Terror to Monkeys - अब मिलेगी बंदरों के आंतक से राहत

अब तक आतंक मचा रहे करीब 20 बंदरों को पकड़कर सरिस्का वन्य जीव अभ्यारण्य में छुड़वाया

By: Gourishankar Jodha

Published: 09 Jan 2021, 12:00 PM IST

मनोहरपुर। ग्राम पंचायत के वांशिदों को जल्द ही बंदरों को आंतक से निजात मिलेगी। इस दिशा में ग्राम पंचायत प्रशासन के दिशा निर्देशन में बंदर पकडऩे की विशेषज्ञ टीम ने पकडऩा शुरू कर दिया है। पहले दिन करीब 20 बंदर पकड़े गए है। जिन्हे पंचायत प्रतिनिधि की मौजूदगी में सरिस्का वन्य जीव अभ्यारण्य तक छुड़वाने की बात सामने आ रही है।
जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत प्रशासन को वार्ड पंचों और ग्रामीणों के समूह ने ग्राम सभा, वार्ड संभा और पंचायत की पाक्षिक बैठक में बंदरों के आंतक की और लगातार ध्यान आकर्षित कराया था।

बच्चों को छत पर अकेले न भेजे
बंदरों के आंतक के चलते मकर संक्राति के त्योहार की नजदीकी के बावजूद परिजन अपने बच्चों को अकेले मकानों की छत पर पंतगबाजी करने के लिए भेज रहे है। इन बंदरों के समूह के चलते आमजन को थैलियों में सामान ले जाना, सब्जी मंडी में दुकान लगाने वाले फल, सब्जी विक्रेताओं, घरों में फ्रिज खोलकर सामान निकाल ले जाना, टंगे हुए वस्त्रों को फाड देना सहित अन्य कारणों से ग्रामीण दहशत में है। कई ग्रामीण बंदरों के काट खाने से घायल भी हो चुके है, बंदरों के पकडऩे की शुरुआत होने से ग्रामीणों और वार्ड पंचों ने शीघ्र ही इनसे छुटकारा मिलने की आशा जताई है।

इनका कहना है...
- शुक्रवार को कस्बे के शिवकॉलोनी के शिव मंदिर के समीप करीब 20 बंदर पकड़े गए है। पकडऩे का कार्य मथुरा की टीम कर रही है। पकड़े गए बंदरों को सरिस्का ग्राम में छुड़वाया जाएगा। जल्द ही ग्रामवासियों को बंदरों के आंतक से मुक्ति मिल सकेगी।
सुनिता श्यामसुंदर प्रजापति, सरपंच मनोहरपुर

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned