लोगों ने स्वस्फूर्त रखा बंद, दिनभर रही शांति

लोगों ने स्वस्फूर्त रखा बंद, दिनभर रही शांति

Ramakant Dadhich | Publish: Sep, 06 2018 10:51:19 PM (IST) Bagru, Rajasthan, India

- एससी-एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध
जयपुर. एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में गुरुवार को भारत बंद के आह्वान पर जयपुर जिले में बाजार बंद रहे। इस दौरान व्यापारिक प्रतिष्ठान दिनभर बंद रहे। ग्रामीण क्षेत्र के चौमूं, शाहपुरा, कोटपूतली क्षेत्र में शांति रही वहीं बस्सी इलाके में जयपुर-आगरा राजमार्ग पर प्रदर्शनकारियों ने जब कानोता के पास जाम लगाने का प्रयास किया तो पुलिस ने विरोध जता रहे लोगोंं पर लाठीचार्ज कर दिया। इसमें पुलिसकर्मियों सहित कई लोगों के चोटें आई। पुलिस ने तीस प्रदर्शनकारियों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

बगरू. कस्बे में विभिन्न व्यापारिक व सामाजिक संगठनों की ओर से बंद का आह्वान पूर्णतया सफल रहा। सुबह से ही व्यापारियों ने एससी एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध जताते हुए दुकानें नहीं खोली। बगरू केमिस्ट एसोसिएशन, बगरू मोबाइल एसोसिएशन, कपड़ा व्यापार, खुदरा व्यापार सहित विभिन्न संगठनों ने समर्थन दिया। सायं चार बजे बाद सभी मेडिकल स्टोर खोल दिए गए।


कालवाड़. कस्बे सहित पूरे कालवाड़ रोड पर बंद सफल रहा। कालवाड़, गोविन्दपुरा, हाथोज, बोबास, रोजदा आदि गांवों में बाजार बंद रहे।
फुलेरा. कस्बे के बाजार दिनभर बंद रहे। व्यापारियों ने स्वेच्छा से प्रतिष्ठान बंद रखकर आंदोलन को समर्थन किया। वहीं दवा की दुकानें भी पूर्णतया बंद रही।
बिचून. कस्बे में दुकानदारों ने स्वेच्छा से दुकानें बन्द रखकर विरोध जताया। बस स्टैण्ड तथा गणगोरी चौक की दुकानें आंशिक रूप से बन्द रही। आसलपुर, भन्दे बालाजी, उगरियावास में बन्द का मिला जुला असर रहा।
नरैना. कस्बे में सुभाष चौक व आजाद चौक पूर्ण रूप से बन्द रहा। बस स्टैण्ड पर बन्द बेअसर रहा व व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले रहे।
सावरदा. कस्बे में सुबह 10 बजे से सायं 4 बजे तक व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बन्द रखे।
सिंवारमोड़. कस्बे में भारत बंद को लेकर व्यापक असर देखने को मिला। व्यापारियों ने चौराहे पर टायर जलाकर प्रदर्शन किया।
बधाल. कस्बे सहित ईटावा, कंवरपुरा, काबरोकाबास, हरूकाबास, देवाकाबास, रलावता सहित आसपास के गांवों में बाजार बंद रहे।
बडक़े बालाजी. कस्बा सहित आसपास के गांवों में बाजार पूर्ण रूप से शांतिपूर्ण बंद रहे। इस दौरान नारेबाजी करते हुए बाजारों में रैली भी निकाली गई।
किशनगढ़-रेनवाल. कस्बे में न कोई सभा न कोई जुलूस लोगों ने स्वेच्छा से अपने प्रतिष्ठान बन्द रखकर विरोध जताया। इस दौरान कस्बे के सभी मेडिकल स्टोर बंद रहे। बंद के दौरान व्यापार मण्डल व सर्व समाज के प्रतिनिधि मण्डल ने तहसीलदार पुरुषोतम शर्मा को ज्ञापन सौंपा।
रेनवाल मांजी. कस्बे में व्यापारियों ने दुकानें बंद रखी गई। जिसके चलते बस स्टैण्ड पर सन्नाटा पसरा रहा।
सांभरलेक. कस्बे में एससी एसटी एक्ट के विरोध में सभी बाजार बंद रहे। कानून व्यवस्था के लिए कस्बे में पुलिसकर्मी तैनात रहे।
मंढाभीमसिंह. कस्बे में बंद का व्यापक असर दिखा, छुटपुट दुकानों को छोडक़र ज्यादातर बाजार बंद रहे। व्यापारियों ने मौन जूलुस निकाला। आसपास के गांवों में भी व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे।
पचकोडिय़ा. गांवों में दुकानदारों ने स्वैच्छिक बाजार बंद रखे। बाजार बंद होने से दिनभर बाजारों में सन्नाटा छाया रहा।
जोबनेर. कस्बे के व्यापारिक प्रतिष्ठान पूर्ण रूप से बन्द रहे। कस्बे में शान्ति रही।
बोराज. कस्बे में बस स्टैण्ड बाजार, सदर बाजार सहित दवा की दुकानें भी बंद रही।
निवारू. व्यापारिक प्रतिष्ठान शाम चार बजे तक पूर्णतया बंद रहे। हरनाथपुरा वैधजी का चौराहा, गणेश नगर व आसपास बाजार बंद रहे।
फागी. कस्बे में शान्तिपूर्ण तरीके से पूर्णतया बंद रहा। पहले व्यापरियों ने बाजार बंद नहीं करने का निर्णय किया था, लेकिन बाद में बंद में शामिल होने पर सहमति बनी और बाजार बंद रहे।
माधोराजपुरा. बंद शांतिपूर्वक सफल रहा। छोटे दुकानदारों ने सुबह से ही प्रतिष्ठान बंद रखकर विरोध जताया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned