recruitments : जोबनेर के श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय में होंगी बंपर भर्तियां

- टीचिंग के 86 व नॉन टीचिंग के 125 पदों पर होंगी भर्तियां

जयपुर. बेरोजगार युवाओं के लिए राहत की खबर है। जोबनेर के श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय में जल्द ही 211 पदों पर भर्तियां होंगी। इसके लिए टीचिंग (Teaching) के 86 व नॉन टीचिंग (non teaching) के 125 पदों पर भर्तियां निकाली जाएंगी। विवि. के कुलपति डॉ. जे.एस.सन्धू ने बताया कि इन पदों के लिए सरकार से विश्वविद्यालय प्रशासन को अनुमति मिल गई है। ज्ञात रहे कि विभिन्न पदों के लिए अपे्रल 2017 में विज्ञापन निकाला गया था। जिसके बाद मई-जून 2018 में लगभग 111 टीचिंग के पदों के लिए भर्तियां हुई थी। लेकिन नॉन टीचिंग पदों के लिए पहली बार भर्तियां (recruitments) की जा रही हैं।


पिछले कुलपति के कार्यकाल में टीचिंग पदों के लिए भर्तियां हुई थी, इसके लिए प्रक्रिया भी पूरी हो गई थी लेकिन विभिन्न कारणों से नॉन टीचिंग के 81 पदों के लिए भर्तियां नहीं हो पाई थी। हालांकि इसके लिए विवि. प्रशासन ने आवेदन लिए थे। विवि के निदेशक शोध डॉ. ए.के. गुप्ता ने बताया कि इस बार टीचिंग के लिए 86 व नॉन टीचिंग के 125 पदों के लिए भर्तियां होनी हैं। इसके लिए विवि प्रशासन शीघ्र ही विज्ञापन जारी करेगा। उल्लेखनीय है कि विवि के अन्तर्गत आने वाले महाविद्यालय नवगांव, कोटपूतली, कुम्हेर, लालसोट, बसेडी, फ तेहपुर, जोबनेर में विभिन्न पदों पर भर्तियां होंगी। इनमें से बसेडी, कोटपूतली, किशनगढ़बास में कृषि महाविद्यालयों को सरकार ने पिछले बजट में ही खोला है। ऐसे में विवि में काफी समय से रिक्त पदों पर नियुक्तियों के लिए बेरोजगार युवा इंतजार कर रहे थे।


इन पदों पर होंगी भर्तियां


निदेशक, अधिष्ठाता, आचार्य, सह आचार्य, सहायक आचार्य, विषय विशेषज्ञ, प्रौगाम असिस्टेन्ट, टेक्निकल असिस्टेन्ट, फ र्म मैनेजर, वाहन चालक, प्रयोगशाला सहायक, एसटीए, परीक्षा नियंत्रक, सहायक पुस्तकालय अध्यक्ष, सहायक कुलसचिव, कृषि पर्यवेक्षक, निजी सहायक, लिपिक ग्रेड सैकण्ड, पंप आपरेटर, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, स्टेनो ग्रेड थर्ड, विधि सहायक, सूचना सहायक, आशु लिपिक, प्रयोगशाला अटेन्डेन्ट के पदों पर भर्ती होगी।


नए सिरे से होंगे आवेदन


मुख्य फोकस विवि. में विभिन्न पदों पर भर्तियां कराना था। इसके लिए कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया भी प्रयासरत रहे। विवि. में भर्तियों से कार्य में बढ़ोतरी होगी तथा युवाओं को रोजगार मिलेगा। ईडब्ल्यूएस आरक्षण के चलते नए सिरे से आवेदन लेने पर विचार किया जा रहा है। (निसं)
- कुलपति डॉ. जे.एस.सन्धू, श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विवि. जोबनेर

Kashyap Avasthi Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned