Sarpanch election: दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर, पूर्व उपजिला प्रमुख भी मैदान में उतरे

- जालसू-झोटवाड़ा क्षेत्र में सरपंच चुनाव

कालवाड़ (Sarpanch election). क्षेत्र की झोटवाड़ा व इससे सटी जालसू पंचायत समिति क्षेत्र में 17 व 29 जनवरी को होने वाले सरपंचों के चुनावों (Sarpanch election) की सरगर्मियां गांव-ढाणियोंं में चरम पर है। इस बार चुनाव में दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है। कालवाड़ कस्बे से सटी जालसू पंचायत समिति क्षेत्र की कुछ पंचायतों पर सभी की नजर है।
महेशवासकलां व रोजदा ग्राम पंचायत से चार बार सरपंच रहे चुके और वर्ष 2010 से 2015 तक जिला परिषद सदस्य चुनकर जयपुर उपजिला प्रमुख रहे सरपंच पद पर भाग्य अपना रहे हैं। वहीं इसी ग्राम पंचायत कि भारतीय किसान सभा के प्रदेश स्तर के नेता भी चुनावी (Sarpanch election) मैदान में है। वहीं जयरामपुरा ग्राम पंचायत पर भी लोगों की नजर है। यहां से वर्तमान सरपंच फिर से तीसरी बार भाग्य अजमा कर हेट्रिक का इरादा बनाए हुए हैं लेकिन इस बार उनके सामने संघर्ष की स्थित है। नवस़ृजित बुगालिया, हरदत्तपुरा, गोविन्दपुरा के साथ साथ खोराबीसल, रोजदा, महेशवासकलां, मुण्डोता, पूनाना, नांगल-बिचपड़ी, राधाकिशनपुरा, खन्नीपुरा, जयरामपुरा, चतरपुरा ग्राम पंचायतों में दो दिन 17 जनवरी को सरपंचों (Sarpanch election) के लिए मतदान होगा। प्रत्याशी चुनाव चिन्ह सहित घर घर जाकर वोट मांग रहे हैं।
वहीं झोटवाड़ा पंचायत समिति की पीथावास, बोयथावाला, निवारू, हाथोज, भम्भौरी, वहीं दुर्जनियावास, मांचवा, सरनाचौड़, सरनाडूंगर, कालवाड़, मंडाभोपावास, पचार, श्योसिंहपुरा, धानक्या, बेगस, फतेहपुरा सहित 19 ग्राम पंचायतों में 29 जनवरी को सरपंच व वार्डपंचों के चुनाव होंगे। गांव व ढाणियों में चौपालों पर अलाव जलाकर चुनावी चर्चाओं में मशगूल होकर सर्दी में चुनावी सरगर्मियों को परवान चढ़ा रहे हैं। इस बार पर ओबीसी महिला के लिए आरक्षित हाथोज व पीथावास और सामान्य वर्ग की कालवाड़, निवारु पंचायत सबसे हॉट सीट मानी जा रही है। कालवाड़ सहित आस पास के बाजार में प्रचार सामग्री की डमी ईवीएम मशीन आदि प्रचार सामग्री की बिक्री भी जोरों पर हो रही है।
रामपुरा-गुढा के ग्रामीणों में आक्रोश
बोबास के पास गुढाकुमावतान व रामपुरा को बोबास से हटाकर ग्रामदानी पंचायत आईदानकाबास ग्राम पंचायत से जोडऩे पर यहां के ग्रामीणों ने आन्दोलन का रुख अख्तियार किया है। स्थानीय निवासी मूलचंद वर्मा व महेन्द्र कुमार बागड़ा रामपुरा ने बताया कि राजस्व ग्राम गुढाकुमावतान व रामपुरा को बोबास ग्राम पंचायत से हटाकर ग्रामदानी आईदानकाबास पंचायत से जोड़ दिया गया। इसका यहां के ग्रामीण विरोध कर रहे हैं और सरपंच सहित अन्य चुनावों (Sarpanch election) की बहिष्कार की घोषणा कर चुके हैं। इस मामले को लेकर ग्रामीण अब कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर विरोध प्रकट करेंगे और इन दोनों गांवों में बोबास में ही रखने की मांग करेंगे।

 
Teekam saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned