बैंक से दिनदहाड़े छह लाख पार

बैंक से दिनदहाड़े छह लाख पार

Ramakant Dadhich | Publish: Sep, 05 2018 10:35:44 PM (IST) Bagru, Rajasthan, India

- सीसीटीवी में फुटेज स्टोर नहीं होने से उलझी पुलिस

रेनवाल. कस्बे में स्थित दी जयपुर सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक मेें बुधवार को बदमाश दिनदहाड़े करीब पांच लाख नब्बे हजार रुपए से भरा बैग पार कर ले गए। थाना प्रभारी सुरेन्द्रसिंह ने बताया कि करणसर सहकारी समिति व्यवस्थापक पूरणमल वर्मा ने बुधवार को सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक से गांव में किसानों को कर्जमाफी ऋण वितरण के लिए पांच लाख नब्बे हजार रुपए निकलवाए थे तथा नकदी को बैग में रखकर बैंक में ही किसी से बातचीत करने लगा। इसी दौरान दोपहर करीब दो बजे रुपयों से भरा बैग बैंक मैनेजर हेमन्त वर्मा को संभलवाकर चाय पीने की कहकर बाहरचला गया।
व्यवस्थापक का कहना है कि दस मिनट बाद आया तो बैग वहीं पड़ा था। इसके बाद वह स्टोर रूम में चला गया। कुछ देर बाद आया तो वहां पर बैग नहीं दिखा। इस पर बैंक में हडक़ंप मच गया। कुछ देेर तो बैंक के अंदर ही इधर-उधर खेजबीन की गई, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर बैंक मैनजर ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर एएसआई कैलाशचंद, हैडकांस्टेबल रमेशचंंद, कांस्टेबल अशोक पहुंचे तथा बैंक मैनेजर व व्यवस्थापक से घटनाक्रम की जानकारी ली तथा सीसीटीवी फुटेज खंगााले। लेकिन इस दौरान जानकारी मिली कि सीसीटीवी के फुटेज तो स्टोर ही नहीं होते। इस पर चोरी करने वाले की जानकारी नहीं मिल सकी। बाद में देर शाम बैंक प्रबंधक हेमन्त वर्मा ने थाने पहुंचकर मामला दर्ज करवाया। पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।


तीसरी आंख बीमार
एएसआई ने बैंक के स्टाफ से पूछताछ कर जानकारी ली तो खुलासा हुआ कि बैंक में लगे हुए कैमरों की तो रिकॉर्डिंग ही नहीं हो रही है। इससे चोर को पकडऩे की उम्मीद कम हो गई। बैंक के कैमरे दुरुस्त होते तो है चोरी की घटना कैद हो जाती जो खुलासे में महत्वपूर्ण मददगार होती। लेकिन हार्ड ***** खराब होने की वजह से कम्प्यूटर में संग्रहण नहीं हो पाई।

इनका कहना है...
- यहां रोजाना का आना-जाना है तथा पहले भी कई बार यहां रह ही रुपए रखे थे। लेकिन कुछ देर के लिए स्टोर रूम में चला गया था। उसके बाद मैंने वापस आकर देखा तो रुपयों से भरा हुआ बैग नहीं था।
पूरणमल वर्मा, व्यवस्थापक सहकारी समिति, करणसर

- मैं किसी कार्य से पास वाले कमरे में गया था। दस मिनट बाद लौटा तो बैग नहीं मिला। फिर स्टाफ के कर्मचारियों से पूछताछ की। बैग नहीं मिला तो पुलिस को सूचना देकर बुलाया।
हेमंत वर्मा, मैनेजर

दी जयपुर सेंट्रल को ऑपरेटिव बैंक, शाखा किशनगढ़ रेनवाल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned