कीटनाशक छिड़के टमाटर बने 2 बच्चों के काल

हरमाड़ा थाना क्षेत्र के चौंप गांव के बावरियों की ढाणी में कीटनाशक स्प्रे के टमाटर खाने से 4 बच्चों की तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां दो बच्चों की मौत हो गई तथा दो का इलाज जारी है।

By: Ashish Sikarwar

Published: 23 May 2020, 01:27 PM IST

जयपुर. हरमाड़ा थाना क्षेत्र के चौंप गांव के बावरियों की ढाणी में कीटनाशक स्प्रे के टमाटर खाने से 4 बच्चों की तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां दो बच्चों की मौत हो गई तथा दो का इलाज जारी है।
दौलतपुरा पुलिस चौकी के एएसआई रामलाल जाट ने बताया कि फागी मोहनपुरा निवासी हजारीलाल बावरिया चौंप गांव में बंटाई पर खेती का कार्य करता है। मंगलवार को उसने खेत में टमाटर की फसल पर कीटनाशक का छिड़काव किया था। दूसरे दिन बुधवार को कुछ बच्चे खेत में चले गए और टमाटर तोड़कर खा गए। इससे उनकी तबीयत बिगड़ गई। बच्चों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी तबीयत में कोई सुधार नहीं होता देख जेके लोन अस्पताल रैफर किया गया। गुरुवार को इलाज के दौरान हजारलाल बावरिया की बेटी लक्ष्मी (3) व शुक्रवार को बेटे विकास (7) ने दम तोड़ दिया। वहीं दो बच्चों का इलाज जारी है। उनकी तबीयत में सुधार बताया जा रहा है। पुलिस ने दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिए। हालांकि पुलिस ने यह भी कहा कि मौत के कारण की पुख्ता जानकरी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही चल पाएगी।
इधर ट्रेलर ने मारी टक्कर, कांस्टेबल सहित दो की मौत
कोटपूतली. जयपुर-दिल्ली राजमार्ग पर गुरुवार रात पुतली कट के समीप ट्रोले की चपेट में आने से एक पुलिस कांस्टेबल सहित दो जनों की मौत हो गई। वहीं पास खड़ी बाइक क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस कांस्टेबल लॉकडाउन के दौरान यहां पनियाला थाने में पद स्थापित हुआ था।
पुलिस के अनुसार कांस्टेबल सहित इसके साथ एक अन्य व्यक्ति कट के समीप सड़क के किनारे $खड़े होकर आपस में बात कर रहे थे। इसी दौरान ट्रोले ने इनको टक्कर मार दी। इससे कांस्टेबल कृष्ण कुमार (45) पुत्र धंसीराम गुर्जर निवासी जमालपुरा थाना खेतड़ी जिला झुंझुनूं हाल निवासी श्याम मंदिर कोटपूतली और रतन लाल उर्फ जीतू (45) पुत्र हरिराम सैनी निवासी वार्ड नंबर 16 मौहल्ला बूचाहेड़ा कोटपूतली घायल हो गए। घायलों को बीडीएम से जयपुर रैफर कर दिया। कांस्टेबल ने रास्ते में वहीं रतनलाल ने एसएमएस में दम तोड़ दिया।
कांस्टेबल जयपुर ग्रामीण पुलिस लाइन में कार्यरत था। उसे लॉकडाउन के दौरान अतिरिक्त जाप्ते के साथ यहां पनियाला थाने में भेजा गया था। इसके पैतृक गांव जमालपुर में पुलिस सम्मान के साथ अन्तिम संस्कार किया गया। जयपुर ग्रामीण पुलिस लाइन की एक टुकड़ी ने गांव में पहुंचकर कांस्टेबल को अन्तिम सलामी दी।

Ashish Sikarwar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned