मनमर्जी की पार्किंग...जहां चाहा, खड़ा कर दिया वाहन

मनमर्जी की पार्किंग...जहां चाहा, खड़ा कर दिया वाहन

Teekam Saini | Publish: May, 18 2018 05:12:11 PM (IST) Chomu, Jaipur, Rajasthan, India

जिम्मेदार कर रहे अनदेखी, यातायता व्यवस्था हो रही प्रभावित।

चौमूं (जयपुर). शहर में पार्किंग व्यवस्था नहीं होने से वाहन चालक मनचाहे स्थानों पर वाहनों को खड़ा कर देते हैं। नतीजतन, सड़कों पर वाहनों के बेतरतीब खड़े रहने से यातायात तक जाम हो जाता है। इतना ही नहीं, बड़ी संख्या में बाहरी लोग पार्किंग स्थल नहीं होने से नगरपालिका परिसर में भी वाहनों को पार्क कर जाते हैं। इसके बावजूद नगरपालिका प्रशासन चुप्पी साधे बैठा है। जानकार सूत्रों के अनुसार जयपुर-सीकर हाइवे से सटे चौमूं में रेनवाल रोड, रींगस रोड, मोरीजा रोड, रेलवे स्टेशन सामोद रोड, राधास्वामी बाग रोड आदि व्यस्तम मार्ग हैं। सूत्रों की मानें तो चौमूं में रोजाना हजारों लोग खरीदारी करने, चिकित्सालयों में इलाज करवाने समेत विभिन्न कार्यों से आते हैं, जिससे अच्छी खासी चहल बनी रहती है।

यह भी पढे: शीतल पेयजल का अभाव, सीएचसी में गर्म पानी का इलाज नहीं

बाजारों में बदले रोड
कस्बे में रेनवाल रोड, स्टेशन रोड, रींगस रोड, मोरीजा रोड व राधास्वामी बाग रोड पर बाजार भी विकसित हो चुके हैं। वैध और अवैध तरीके से बड़ी-बड़ी इमारतें खड़ी हो गई हैं। दिनभर बाजारों में वाहनों की रेलमपेल लगी रहती है। जागरूकता के अभाव एवं पुलिस व नगरपालिका की ढिलाई के कारण वाहन बाजारों में मनचाहे स्थानों पर वाहन खड़ा कर देते हैं। दुपहिया वाहन चालक तो सड़कों पर ही बेतरतीब वाहन खड़ा कर देते हैं। सड़कें सिकुड़ जाती हैं और जाम की स्थिति बन जाती है।

यह भी पढे: ये कैसी पेयजल व्यवस्था, 24 घंटे में मात्र 10 मिनट जलापूर्ति

नगरपालिका में भी अवैध पार्किंग
नगरपालिका के सामने रोडवेज बस एवं प्राइवेट जीपों का स्टैण्ड होने से लोग दुपहिया वाहनों व कारों को खड़ा कर जाते हैं। इतना ही नहीं, बाजारों में खरीदारी करने वाले लोग भी सुरक्षा कारणों के चलते बड़ी संख्या में लोग पालिका परिसर में बेरोक-टोक वाहन खड़ा कर जाते हैं। स्थिति यह है कि यहां से पालिका के एक कर्मचारी की मोटरसाइकिल तक चोरी हो चुकी है।

यह भी पढे: 53 साल बाद आई सरकार को याद, शहीद परिवार का छलका दर्द

बन सकता है पार्किंग स्थल
नगरपालिका परिसर में खाली पड़ी भूमि पर पार्किंग स्थल बनाकर ठेके पर दिया जा सकता है, जिससे चालकों को भी निर्धारित शुल्क अदा करने के बाद वाहनों को खड़ा करने की सुविधा मिल जाएगी। पालिका को भी राजस्व लाभ होगा। इसके लिए पालिका बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव लिया जा सकता है। खास बात ये है कि इसके लिए कुछ पार्षद भी तैयार हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned