सड़क पर मिलने के बावजूद आखिर लोग क्यों नहीं उठा रहे भारतीय रुपए

कोरोना को लेकर कस्बे में शनिवार को उस समय हड़कंप मच गया जब सड़क पर अलग-अलग जगह नोट पड़े मिले। नोट मिलने के बाद लोगों में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया और तुरंत प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना दी गई। बाद में पहुंची टीम ने नोटों को सेनेटाइज करा उनका निस्तारण किया। इसके बाद लोगों की जान में जान आई।

By: Ashish Sikarwar

Updated: 18 Apr 2020, 11:58 PM IST

फागी. कोरोना को लेकर कस्बे में शनिवार को उस समय हड़कंप मच गया जब सड़क पर अलग-अलग जगह नोट पड़े मिले। नोट मिलने के बाद लोगों में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया और तुरंत प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना दी गई। बाद में पहुंची टीम ने नोटों को सेनेटाइज करा उनका निस्तारण किया। इसके बाद लोगों की जान में जान आई।
जानकारी के मुताबिक सुबह करीब ११ बजे पठान बाबा मंदिर के समीप चौराहे पर दो सौ के दो नोट पड़े देख ग्रामीण एकत्रित हो गए। लेकिन किसी ने नोट उठाने की हिम्मत नहीं की। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। जिस पर नोटों को सेनेटाइज के बाद गश्त करने वाले पुलिसकर्मी सज्जन सिंह ने प्रशासन को सुपुर्द कर दिया। प्रशासन नोट मिलने की घटना को लेकर चर्चा कर ही रहा था कि करीब दो बजे नरेन्द्र कुमार कासलीवाल के मकान के नाली में पांच सौ का नोट पड़े होने की सूचना मिलने के बाद प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए।
सूचना मिलते ही तहसीलदार सोनू गुप्ता, गिरदावर श्यामलाल शर्मा, पटवारी आत्माराम के साथ मेडिकल टीम मौके पर पहुंची और नोट को सेनेटाइज करने के बाद उठाया। तहसीलदार गुप्ता ने ग्रामीणों से अपील की है कि इन दिनों कहीं भी कोई लावारिस वस्तु पड़ी हो तो प्रशासन को सूचना दी जाए। उधर, 300 मीटर की दूरी में दो जगहों पर नोट मिलने के बाद दिनभर लोगों में चर्चा का दौर जारी रहा। (निसं)
नदबई से आई महिला, मची अफरा-तफरी
महलां. सवाई जयसिंहपुरा पंचायत क्षेत्र के ग्राम शेरपुरा में शुक्रवार को महिला अपने पीहर नदबई जिला भरतपुर से ससुराल पहुंची तो स्थानीय लोगों में अफरा-तफरी मच गई। भनक लगते ही महिला के घर पर जाकर जांच कर 14 दिन के लिए होम आइसोलेट किया गया। जानकारी के अनुसार स्थानीय महिला नदबई से ससुराल शेरपुरा में आ गई। महिला ने बताया कि साधनों के अभाव में चारा के भरे वाहन में बैठकर आ गई। सूचना पर एएनएम बीना गुप्ता, लीला केजी, सुपरवाइजर रामखिलाड़ी बैरवा ने महिला व उसके करीब 4 वर्षीय बच्चे की जांच कर होम आइसोलेट किया।
साइकिल पर भरतपुर से दतूली पहुंचा, लोगों में डर
माधोराजपुरा. भरतपुर में कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में पुलिस से बचता हुआ दो दिन का सफर तय कर भरतपुर निवासी व्यक्ति शुक्रवार रात समीप के दतूली गांव पहुंचा। शनिवार को जैसे ही ग्रामीणोंं को इसकी जानकारी मिली तो हड़कंप मच गया। पटवारी के नेतृत्व में टीम ने स्क्रीनिंग कर उसे क्वारंटाइन सेंटर भिजवाया। पटवारी पवन कुमार शर्मा ने बताया कि भरतपुर का रहने वाला ४७ वर्षीय व्यक्ति १६ अप्रेल को साइकिल से रवाना हुआ था। देर रात यहां एक खेत पर आकर रुक गया। भनक लगते ही ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर पटवारी के साथ एएनएम अनिता जाट व बीएलओ रामरतन स्वामी खेत पर पहुंचे तथा स्क्रीनिंग कर फागी स्थित क्वारंटाइन सेंटर भिजवा दिया।

Ashish Sikarwar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned