Corona lockdown : मजबूर हुए मजदूर, खाना ना पानी, पैदल ही सैकड़ों मील घर जाने की ठानी

- मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, बिहार के लिए हुए रवाना

जयपुर. प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के खौफ के बीच बिंदायका व सरना डूंगर रीको इंडस्ट्रीज एरिया से सैकड़ों मजदूरों का पलायन हो रहा है। मजदूरी के लिए उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार सहित प्रदेश के कई जिलों से आए मजदूर घरों के लिए यातायात के अभाव में पैदल ही चल पड़े है। लॉकडाउन के चलते यातायात पूरी तरह ठप है, वहीं फैक्ट्रियों बंद हो जाने की वजह से मजदूरों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

इसलिए ये पलायन कर रहे हैं। सिरसी रोड के बिंदायका रीको से मध्यप्रदेश जा रहे श्रमिकों ने बताया कि फैक्ट्रियों में कामकाज बंद है। घर लौटने के सिवाए कोई चारा नही बचा है। यातायात के साधन नहीं हैं इसलिए पैदल ही रवाना हो रहे हैं। हालांकि भामाशाह इन्हें खाने के पैकेट उपलब्ध करा रहे हैं। वहीं जोबनेर के पास से सैकड़ों मजदूर मध्यप्रदेश के लिए रवाना हुए।


ठेकेदार ने नहीं दिए पैसे, अब चले घर


फुलेरा. डेगाना रेल लाइन पर गुरुवार शाम भूखे-प्यासे 30 मजदूर डेगाना से रेलवे ट्रेक के सहारे अलवर के लिए जा रहे थे। फुलेरा के लोगों ने रोककर पूछा तो रोने लगे। बोले... साब दो दिन से भूखे हैं और घर जा रहे हैं। इस पर समाजसेवी उमेश गोटन, विकास शर्मा, विशाल दुलानी आदि ने भोजन करवाया। मजदूरों ने बताया कि वे रेलवे ठेकेदार के पास काम कर रहे हैं। एकाएक गाडिय़ां बंद होने से यहां फंस गए। ठेकेदार ने पैसे भी नहीं दिए। मांगे तो कहा अकाउंट में डाल देंगे।

अब भीगते हुए। निकल रहे हैं। वहीं जयपुर-फलोदी मेगा हाईवे पर गुरुवार को बड़ी संख्या में मजदूर अपने घरों को जाते दिखे। वे पैदल ही मध्यप्रदेश के मुरैना, ग्वालियर, धौलपुर व आगरा के लिए जा रहे हैं। स्थानीय डॉ. पवन शर्मा भम्भौरी, रामफूल मीणा, राजेश जैन ने उन्हें खाने के पैकेट दिए गए ताकि रास्ते में परेशानी ना हो ।

Kashyap Avasthi Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned