योगी के इस मंत्री ने बताया उपचुनाव में हार का कारण, दे दिया बड़ा बयान

Ruchi Sharma

Publish: Jun, 14 2018 03:03:56 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
योगी के इस मंत्री ने बताया उपचुनाव में हार का कारण, दे दिया बड़ा बयान

योगी के इस मंत्री ने बताया उपचुनाव में हार का कारण, दे दिया बड़ा बयान

बहराइच. उत्तर प्रदेश में पहले गोरखपुर और फूलपुर उसके बाद नूरपुर और कैराना में बीजेपी को मिली हार की व्याख्या पार्टी के नेता अपनी अपनी सहूलियत के हिसाब से कर रहे हैं। बहराइच पहुंचे कृषि राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह ने उपचुनावों में लगातार हो रही बीजेपी की हार का सबसे बड़ा कारण गठबंधन और चुनाव क्षेत्र में ज्यादा मुस्लिम वोटरों का होना बताया। उन्होंने कहा कि हमारा वोट प्रतिशत तो बढ़ा है, लेकिन गठबंधन को अधिक संख्या में मुस्लिम वोटरों ने अपना वोट दिया, जो हमारी हार की एक बड़ी वजह बना। कृषि राज्यमंत्री बहराइच में कृषि विभाग की तरफ से आयोजित एक किसान गोष्ठी कार्यक्रम में बोल रहे थे।

यह भी पढ़ें- Big Breaking: मायावती ने लिया अब तक का सबसे बड़ा फैसला, अपने इन खास नेताअों को निकाला पार्टी से बाहर

2019 में फिर से खिलेगा कमल

उन्होंने कहा कि पार्टी 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर बेहद गंभीर है। उन्होंने कहा कि सारी कमियों को दूर करते हुए एक नई रणनीति के तहत काम हो रहा है और 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में चारों तरफ कमल ही खिलेगा। उन्होंने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की नजर उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए उपचुनावों पर है, वो ऐसी रणनीति बना रहे हैं, जिससे बीजेपी को 55 प्रतिशत वोट मिलें।

यह भी पढ़ें- बलात्कार के आरोपी आसाराम के फैन है योगी के ये मंत्री, फोटो के साथ कर डाला ये काम.. पूरी राजनीति में मचा हड़कंप

राहुल गांधी के सवाल पर दिया जवाब


वहीं दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को अस्पताल में सबसे पहले देखने पहुंचे राहुल गांधी के सवाल पर कृषि राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि अभी हाल ही में मुलायम सिंह बीमार हुए थे तो, देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह उन्हें सबसे पहले देखने गए थे। इस बात को लेकर उन्होंने कहा कि राजनीति अलग चीज है अौर हमारी सभ्यता अौर शिष्टाचार अलग चीज है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned