छात्रों की अधिक संख्या दिखाकर स्कूल में हो रहा था भ्रष्टाचार, स्कूल टीचर सस्पेंड, डीएम ने दिए जांच के आदेश

Abhishek Gupta

Updated: 16 Jan 2020, 08:59:34 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बहराइच. यूपी सरकार की ओर से चलाई जा रही तमाम सरकारी योजनाओं की धरातल पर कैसे धज्जियां उड़ाई जाती हैं, इसकी ताजी बहराइच जिले के सरकारी स्कूल। जहां पर स्कूल के जिम्मेदार अध्यापक छात्र-छात्राओं के हक पर भी डाका डालने से बाज नहीं आ रहे। वहीं इस मामले में BSA बहराइच ने खुलासा किया है कि स्कूल में छात्रों की संख्या अधिक दिखाकर मिड डे मील जैसी महत्वकांक्षी योजना में भ्रष्टाचार का खेल खेला जा रहा था।

ताजा मामला हुजूरपुर विकासखंड के पूर्व माध्यमिक विद्यालय ऐलिहा का है, जहां के शिक्षकों ने स्कूल के छोटे-छोटे बच्चों के जूते मोजे और स्वेटर को बेचने का मानो धंधा बनाया हुआ था। विद्यालय में अधिक से अधिक छात्रों की संख्या दिखाकर उसके बदले में अधिक ड्रेस प्राप्त करके उसे दूसरे के घरों में रखवा कर बाद में बाजार में सप्लाई किया जा रहा था। सरकार द्वारा सरकारी टीचरों को भारी भरकम तनख्वाह देने के बावजूद भी यह लोग सरकारी योजनाओं को पलीता लगाने में अपनी ओर से कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। हद तो तब हो गई जब मामले की भनक लगने पर मौके की जांच करने पहुंचे बेसिक शिक्षा अधिकारी बहराइच से आरोपी शिक्षिका दीप्ति श्रीवास्तव ने उनसे अभद्रता की। रातों-रात विद्यालय की ड्रेस को पड़ोस के घर के शौचालय में शिफ्ट कर दिया गया। विद्यालय के कमरे की जांच करने पर यह भी पता चला कि यहां सत्र 2017, 2018 और 2019 की किताबें भी अभी छात्रों को वितरित नहीं की गई हैं, और वह भी विद्यालय के कमरों में डंप हैं।- इस मामले में जब आरोपी प्रधानाध्यापिका दीप्ति श्रीवास्तव से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं के ड्रेस जूते मोजे और बैग को बांट दिया है। अब सवाल यह उठता है कि अगर सभी छात्रों को ड्रेस बैग जूते मोजे वितरित कर दिए गए हैं तो फिर यह सामान विद्यालय के पड़ोस के घर के शौचालय से कैसे बरामद हुआ। वहीं पड़ोसी का कहना है कि यह सामान उसके शौचालय में विद्यालय की शिक्षिका द्वारा रखवाया गया है ।


इस संगीन मामले की गंभीरता को देखते हुये बहराइच जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी SK तिवारी ने लापरवाही के मामले में स्कूल की प्रिंसिपल दीप्ति श्रीवास्तव को निलंबित करते हुये जांच के आदेश दिये हैं । वहीं जिलाधिकारी बहराइच ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कर दोषियों के खिलाफ शख्त से सख्त करवाही का भरोसा जताया है,

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned