बहराइच जिला जेल में एक अौर बंदी की मृत्यु, तीन माह में 4 की मौत से मचा हड़कंप

बहराइच जिला जेल में एक अौर बंदी की मृत्यु, तीन माह में 4 की मौत से मचा हड़कंप

Ruchi Sharma | Publish: Sep, 16 2018 01:09:16 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 01:38:47 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बहराइच का कारागार बना बंदियो का कत्लगाह, 3 माह में 4 कैदियों की मौत बनी गवाह

बहराइच. जिला जेल में सजा काट रहे बंदियों की संदिग्ध मौत का रहस्य जेल प्रबंधन के ऊपर तरह तरह का सवालिया निशान खड़ा कर रहा है। जिस तरह से बीते 3 माह के अंतराल में ताबडतोड़ 4 कैदियों के मौत की ज्वलन्त घटना बहराइच के कारागार के अंदर से सामने आ चुकी है। ये हक़ीक़त कहीं न कहीं इस बात की तरफ साफ इशारा कर रही हैं कि बहराइच की जिला जेल बंदी सुधार गृह के स्थान पर दिन- ब -दिन कैदियों की कत्लगाह के रूप में तब्दील होती नजर आ रही है। बीते 3 माह से बहराइच की जिला जेल का वातावरण इस कदर संक्रिमत हो गया है कि यहां पर अपने गुनाहों की सजा काट रहे तमाम कैदियों को अपनी जान गंवाकर अपने गुनाहों का प्रायश्चित करना पड़ रहा है।

जिला कारागार बहराइच में डबल मर्डर के आरोप में आजीवन कारावास की सजा काट रहे लखीमपुरखीरी निवासी कैदी की बीते शुक्रवार की देर शाम को संदिग्ध हालात में मौत हो गई। मृतक कैदी का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। कारागार के जेलर वीके शुक्ला ने बताया कि लखीमपुर खीरी जिले के मोहम्मदी थाना क्षेत्र के मूढा निजाम निवासी यूसुफ (60) पुत्र मेहंदी हसन को वर्ष 2014 में आजीवन कारावास की सजा होने पर जेल में लाया गया था। उन्होंने बताया कि शुक्रवार की देर शाम अचानक उसकी हालत बिगड़ गई। जिसे उपचार के लिये जिला अस्पताल भेजा गया था जहां यूसुफ नाम के कैदी की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक कैदी के बहनोई शाहजहांपुर जिले के सिधौली गांव निवासी शाहिद अली ने जेल प्रबंधन पर आरोप लगाया कि उनके ***** की जेल में बेरहमी से हत्या की गई है, जिसकी न्यायिक जांच की मांग की है। मृतक के बहनोई ने बताया कि जेल में संदिग्ध हालत में मृत मिले यूसुफ के माथे,नाक व गले पर गहरे चोट के निशान मिले हैं, जो साफ इशारा कर रहे हैं कि यूसुफ की मौत हार्ट अटैक से नहीं बल्कि हत्या के सुबूत स्वयं बयां कर रहे हैं ।

ये है 3 माह में दम तोड़ने वाले कैदियों की फेहरिस्त


1- 18 जुलाई 2018 - जरवलरोड थाना क्षेत्र के परसा नहर पटटी निवासी मंशाराम (50) पु़त्र छोटेलाल को 29 मई 2018 को रेप के केस में पुलिस ने बंद किया था। संदिग्ध परिस्थितियों में उसकी 18 जुलाई को मौत हो गई थी। जेल प्रशासन ने सांस फूलने से मौत होने की बात कही थी।


2- 27 अगस्त 2018 - बाराबंकी जिले के सफदरगंज थाना क्षेत्र के प्यारेपुर गांव निवासी रघुनंदन पुत्र लाला रैदास को पुलिस ने 30 जुलाई 2018 को चोरी के मामले में जेल में बंद किया था। संदिग्ध परिस्थितियों में उसकी 27 अगस्त को मौत हो गई। मृतक के परिवारीजनों में उच्च स्तरीय जांच को लेकर पोस्टमार्टम हाउस के बाहर प्रदर्शन भी किया था।


3 - 10 सितम्बर 2018 - कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के नई बस्ती गजपतिपुर निवासी शिवकुमारी (51) पत्नी लक्ष्मण की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।


4 - 14 सितंबर 2018 - लखीमपुर खीरी जिले के मोहम्मदी थाना क्षेत्र के मूढा निजाम निवासी युसूफ(60) पुत्र मेहंदी हसन की संदिग्ध हालात में मौत।

Ad Block is Banned