चिता पर जलती रही विवाहिता की लाश, पुलिस करती रही राख होने का इंतजार

Ashish Kumar Pandey

Publish: May, 17 2018 08:53:18 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India

बहराइच. जिले में एक बड़ा ही संवेदनहीन मामला प्रकाश में आया है। जहां के थाना फखरपुर की पुलिस कर्मियों पर चिता पर जल रही एक विवाहिता की लाश के साथ इंसाफ न करने का बेहद संगीन आरोप लगा है। मृतका के परिवारीजनों ने एसपी दफ्तर में हाजिर होकर पूरी घटना का राजफाश किया है। वहीं मामले की जानकारी होते ही एसपी सिटी अजय प्रताप ने मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी सजा देने का भरोसा पीडि़त परिजनों को दिलाया है।
बाबुल की दुआएं लेती जा जा तुझको सुखी संसार मिले। इसी कामना के साथ हर पिता अपनी बेटी को विदा करता है, लेकिन दहेज़ के लोभियों ने अपनी लालच की वेदी पर उस पिता की लाडली को चिता पर चढ़ा दिया और वो भी जि़ंदा। जी हाँ बहराइच के थाना फखरपुर इलाके में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, जिसमे दहेज़ की मांग न पूरी कर पाने पर एक विवाहिता को उसके ससुरालवालों ने घर मे बंधक बनाकर पहले तो बुरी तरह मारा पीटा और उसके बावजूद भी जब उनका दिल नहीं भरा तो दहेज के दानवों ने उस मासूम पर पेट्रोल डालकर उसे जि़ंदा आग के हवाले कर दिया।

दहेज के दानवों ने जिंदा आग के हवाले कर दिया
इससे भी ज़्यादा शर्मनाक बात ये हैं कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने सनद मिटाने के लिये विवाहिता की लाश को आनन-फानन में घर के नजदीक खेत में चिता बनाकर जला डाला और जब मामले की भनक पुलिस के कानों तक पहुँची तो मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने चिता पर जलती लाश को बुझाने के बजाय लाश को राख के ढेर में तब्दील होने के इंतजार में तमाशबीन बने नजर आए। ये आरोप किसी और के नहीं बल्कि मृतका की बूढी माँ और बेबस पिता के हैं, जिनकी आँखों से सामने ही उनकी फूल सी बेटी को दहेज के दानवों ने जिंदा आग के हवाले कर दिया।

थाना फखरपुर पुलिस का एक ऐसा बेरहम चेहरा सामने आया है जो इंसानियत को तार तार करता दिखाई दे रहा है। आरोप है की परसेंडी गांव निवासी मेवालाल मौर्या ने अपनी बेटी प्रीति का विवाह 6 साल पहले रमवापुर टेंडवा अल्पीमिश्र के रहने वाले सतीश पुत्र श्री चन्द के साथ की थी, जिसमें अपनी हैसियत के हिसाब से दान दहेज़ भी दिया था। लेकिन दहेज के दानवों का लालच यहीं तक शांत नहीं रहा। मृतका के परिजनों के मुताबिक ससुराल वाले दहेज़ में चार पहिया गाड़ी की मांग कर रहे थे।

परिजनों को भी मारापीटा
जब गरीब पिता ससुरालियों की मांग नहीं पूरी कर पाया तो आरोपियों ने बेटी को यातनाएं देना शुरू कर दिया। इसी बीच बीते 15 मई को परिजनों को सूचना मिली की उसके ससुराल वाले उसे बुरी तरह पीट रहे हैं, जिसकी भनक लगते ही मृतका के परिजन आनन-फानन में बेटी के ससुराल पहुंचे तो वहां आरोपियों ने मृतिका के परिजनों को भी मारा पीटा और कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद बेटी पर पेट्रोल डालकर उसे आग लगाकर जिंदा जला डाला।

...और पुलिस का ऐसा जवाब कि...
मृतका के पिता का आरोप है कि मौके पर फखरपुर थाने के 4 सिपाही भी पहुंचे लेकिन किसी ने बेटी के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए जलती चिता पर पड़ी लाश को बुझाने का जरा भी प्रयास नहीं किया और जब पीडि़त परिजनों ने बेटी को बचा लेने की पुलिस कर्मियों से फरियाद की तो उनकी फ़रियाद पर मौके पर मौजूद पुलिस वालों ने साफ शब्दों में कहा कि हमारे भी तुम लोगों की तरह 2 हाथ हैं और हम यहाँ लोटा बाल्टी लेकर नहीं आये हैं जो आग बुझाते फिरें तुम लोग खुद ही बुझा लो।

...तो दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

आग से झुलसी विवाहिता की मौत के बाद पुलिस ने मामले को दर्ज तो कर लिया है लेकिन मौके पर पहुंचे सिपाहियों की शर्मनाक करतूत पर कोई भी बोलने से बचता दिख रहा है। घटना की जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक नगर ने बताया कि मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। पुलिस पर लगे आरोपों के जवाब में अपर साहब ने कहा कि ऐसा कुछ संज्ञान में आया नहीं है फिर भी अगर विवेचना में ऐसा कोई तथ्य सामने आता है तो दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned