अफसरों के टार्चर से होमगार्ड की मौत, आक्रोशित साथियों ने शव रखकर किया हंगामा!

अफसरों के टार्चर से होमगार्ड की मौत, आक्रोशित साथियों ने शव रखकर किया हंगामा!
UP Homeguard

Shatrudhan Gupta | Updated: 10 Dec 2017, 07:28:06 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

होमगार्ड संगठन का आरोप है कि होमगार्ड गजरात पाठक की मौत विभाग की प्रताडऩा के कारण हुई है।

बहराइच. जिले के होमगार्ड विभाग में तैनात गजराज पाठक नाम के एक होमगार्ड की बीती रात ड्यूटी के दौरान अचानक हार्टअटैक के चलते मौत हो गई। इस मौत के बाद जिले का सारा होमगार्ड संगठन आक्रोशित हो गया। होमगार्ड संगठन का आरोप है कि होमगार्ड गजरात पाठक की मौत विभाग की प्रताडऩा के कारण हुई है। होमगार्ड की मौत के बाद आक्रोशित साथियों ने उसके शव को सड़क पर रखकर जमकर हंगामा किया। हंगामे की सूचना पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट प्रमिल कुमार सिंह ने प्रदर्शनकारियों को काफी मनाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं मानें। लेकिन, जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम खोला।

विभाग में भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज कर रहे थे बुलंद

जानकारी के मुताबिक मृतक जवान गजराज पाठक जनपद के होमगार्ड संगठन के अध्यक्ष थे, जो की अपने संगठन की आवाज बुलन्द करने का काम पिछले काफी अर्से से अनवरत करते चले आ रहे थे। यही नहीं, विभाग के अंदर खाने में चल रहे तमाम तरह के भ्रष्टाचार की कलई खोलने के लिये मृतक गजराज पाठक की तरफ से जन सूचना अधिकार के तहत कई आरटीआई भी लगाई गई थी। इसके साथ ही विभागीय भ्रष्टाचार के खिलाफ एक शिकायती पत्र मुख्यमंत्री कार्यालय में भी प्रेषित किया गया था, जिस शिकायती पत्र पर मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से इस संगीन मामले की जांच की जिम्मेदारी बस्ती मंडल के कमान्डेंट को मिली थी। जिसके बारे में जांच अफसर ने मंडलीय कमान्डेंट और जिला कमान्डेंट बहराइच को पूरे मामले से अवगत कराया था।

सीएम कार्यालय को भेजा था शिकायत पत्र

प्रदर्शनकारी होमगार्ड संघ के जवानों ने साफ तौर पर कहा कि सभी होमगार्डों ने मंडलीय कमान्डेंट, जिला कमान्डेंट और विभाग में कार्यरत जैदी बाबू के नाम से मुख्यमंत्री कार्यालय में अपना शिकायती पत्र दाखिल किया था। उस मामले में होमगार्ड संगठन के अध्यक्ष गजराज पाठक के ऊपर जबरन सुलह कराने का दबाव डालने के लिये बहराइच के होमगार्ड विभाग में तैनात जिला कमान्डेंट संतोष कुमार, मंडलीय कमान्डेंट व जैदी बाबू की तरफ से तरह-तरह का मानसिक टार्चर किया जा रहा था, जिसका नतीजा ये रहा की विभागीय अफसरों के मानसिक टार्चर के सदमें से होमगार्ड संगठन के जिला अध्यक्ष गजराज पाठक की ड्यूटी के दौरान अचानक हार्ट अटैक से मौत हो गयी।

दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन

इस घटना से आहत होमगार्ड संगठन से जुड़े अन्य सैकड़ों साथियों ने आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई और मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने की मांग को लेकर जिलाधिकारी आवास के सामने घंटों रोड जाम कर जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट प्रमिल कुमार सिंह ने काफी मशक्कत के बाद आक्रोशित होमगार्ड संगठन के लोगों को इंसाफ का आश्वासन देकर आवागमन का मार्ग बहाल कराया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned