चीन की वधशाला में कट रहे भारतीय पशु, खाड़ी देशों में हो रही मीट की सप्लाई!

चीन की वधशाला में कट रहे भारतीय पशु, खाड़ी देशों में हो रही मीट की सप्लाई!
Chinese Slater House

Shatrudhan Gupta | Updated: 13 Nov 2017, 10:39:01 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीमावर्ती क्षेत्र से सटे नेपाल के बर्दिया जिले के गुलरिया इलाके में चीन ने पशु वधशाला खोलकर लोगों के लिये परेशानी खड़ी कर दी है।

बहराइच. जिले के बॉर्डर में सीमावर्ती क्षेत्र से सटे नेपाल के बर्दिया जिले के गुलरिया इलाके में चीन ने पशु वधशाला खोलकर लोगों के लिये परेशानी खड़ी कर दी है। इस पशु वधशाला में गाय, भैस के अलावा भी तमाम तरह के जानवरों का कत्ल कर मांस खाड़ी देशों तक पहुंचाया जा रहा है। नेपाल के वर्दिया में चल रही वधशाला से विश्व के कई देशों में मांस की सप्लाई की जा रही है।

मलेशिया, इंडोनेशिया समेत दर्जनों देशों के लिये यहां से मांस की डिलीवरी हो रही है। यही नहीं, भारतीय इलाकों में छुपे नेपाली पशु तस्कर भारतीय पशु तस्करों से समझौता कर सीमावर्ती क्षेत्रों के पशु बाजारों में विदेशी धन झोंक कर महंगे दामों पर पशुओं की खरीदारी कर बॉर्डर और जंगलों के पगडंडियों के रास्तों से तस्करी कर पशुओं की बड़ी खेप नेपाल पहुंचा रहे हैं। नेपाल पहुंचने के बाद वही जानवरों की बड़ी खेप चीन द्वारा खुलवाई गई वधशाला में झोंक दी जा रही है, जहां से पशुओं को काट कर उनके मांस को विदेशों में सप्लाई के लिये पैक कर दिये जा रहें हैं।

गुलरिहा इलाके में खोली गई है वधशाला

भारतीय सीमा रुपईडीहा से सटे नेपाल के बर्दिया जिले में चीन की तरफ से खोली गई पशु वधशाला गुलरिहा इलाके में संचालित हो रही है, जहां दिन रात पशुओं का कत्ल किया जा रहा है और मांस एयर फ्रूफ कंटेनरों में भरकर विदेश भेजा जा रहा है। सूत्रों की मानें तो इस गोरखधंधे में जिम्मेदारों की मोटी कमाई भी होती है और इसे बाकायदा वातानुकूलित कंटेनरों में पैक कर भारतीय क्षेत्रो से निकालकर कोलकता होते चीन, जापान, कोरिया, मलेशिया, बंैकाक, इंडोनेशिया सहित तमाम देशों में सप्लाई किया जा रहा है। नेपाली इलाके में लगी इस चीनी स्लॉटर हाऊस से लोग भी हैरान हैं। इस कम्पनी का नाम चाइना लांग फूड प्राइवेट लिमिटेड ब्रांच गुलरिहा जिला वर्दियां है। इस वधशाला से मांस नेपालगंज से होकर रुपईडीहा होते हुये कस्टम पार कर भारतीय मार्ग से होता हुआ विभिन्न देशों में बेधड़क सप्लाई किया जा रहा है।

पशुओं की तस्करी निर्वाध रूप से जारी

भारतीय सीमावर्ती कई थाना क्षेत्रों के रुपईडीहा, मोतीपुर, मुर्तिहा, नवाबगंज, सुजौली के पगडंडियों के रास्ते नेपाली पशु तस्करों के लिये वरदान साबित हो रहे हैं। सीमावर्ती क्षेत्रों में लगी कई सुरक्षा एजेंसियों और खुुफिया तंत्र के जाल के जंजाल के बावजूद भी पशुओं की तस्करी निर्वाध हो रही है। नेपालगंज के जमुनहा इलाका प्रहरी कार्यालय इंचार्ज सुधीर खड़का ने भी खबर की पुष्टि की है और बताया कि चीन की ओर से ही वधशाला की इकाई स्थापित की गई है। इस वधशाला से गंदगी भी इलाके में फैल रही है। लोग बहुत परेशान हैं। कई बार स्थानीय लोगों ने शिकायत की, पर कार्रवाई नहीं हो रही है।

उच्चाधिकारियों को भेजी गई रिपोर्ट

बताया जाता है कि इस मामले में उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट भेजी गई है। वहीं भारतीय सीमावर्ती थाना रुपईडीहा के थानाध्यक्ष आलोक राव का कहना है कि बॉर्डर पर निरन्तर सजगता से जांच की जा रही है। वर्दिया इलाका हमारे थाने से 150 किमी दूर है। मुर्तिहा और मोतीपुर के बॉर्डर से लगा है। बहराइच पुलिस अधीक्षक जुगुल किशोर ने नेपाल के बर्दिया में चीन की तरफ से खोली गई पशु वधशाला के सवाल पर कहा कि बॉर्डर पर मेरी टीम अलर्ट है। किसी भी प्रकार के देश विरोधी कृत्यों पर हम संजीदा हैं। किसी को भी बक्सा नहीं जायेगा। नियम और कानून के दायरे में पूरी पड़ताल करूंगा, यदि सीमावर्ती इलाकों में कुछ भी गलत हो रहा होगा तो उचित मंच पर बात भी रखी जायेगी।

रिपोर्ट: राजीव शर्मा

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned