इस करिश्माई चश्मे से दिख जाएगा जमीन में गढ़ा खजाना, इसके बाद...

इस करिश्माई चश्मे से दिख जाएगा जमीन में गढ़ा खजाना, इसके बाद...
Bahraich Police

Shatrudhan Gupta | Updated: 03 Nov 2017, 10:09:59 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

चश्मे से जमीन के अंदर गड़ी हुई वस्तुओं को को बड़ी आसानी से पारदर्शी तरीके से देखा जा सकता है।

बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले की पुलिस ने एक ऐसे ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो लोगों को करिश्माई चश्में के द्वारा बड़ी आसानी से धनवान बनाने का सपना दिखाकर अपनी ठगी का बाजार काफी अर्से से चला रहे थे। ये गिरोह उत्तर प्रदेश के आलावा तमाम अन्य प्रांतों में सिंडिकेट बनाकर ठगी का गोरखधंधा चला रहा था।

पुलिस के मुताबिक इस गिरोह के ठग लोगों को भरोसा दिलाते थे की उनके पास एक ऐसा करिश्माई चश्मा है, जिससे न केवल पुराना खजाना देखा जा सकता है, बल्कि इस चश्मे से जमीन के अंदर गड़ी हुई वस्तुओं को को बड़ी आसानी से पारदर्शी तरीके से देखा जा सकता है। यही नहीं, दीवार पार खड़े व्यक्ति को भी इस जादुई चश्मे के माध्यम से देखा जा सकता है। पुलिस के मुताबिक रिजवान और आमिर नाम के ठग ऐसी ही बातों से लोगों को अपने झांसे में लेकर उन्हें ठगते थे। बहराइच के थाना दरगाह की पुलिस टीम ने मुठभेड़ के दौरान ऐसे ही अंतरराज्यीय गैंग के आठ सदस्यों को गिरफ्तार कर इस जालसाज गैंग का पर्दाफाश किया है।

बहराइच एसपी जुगुल किशोर के मुताबिक इस गिरोह का संचालन रिजवान और मो. आमिर नाम के नटवरलाल चला रहे थे। यह गिरोह पूरे देश में घूम-घूम कर लोगों को बरगलाकर एक ऐसे नायाब चश्मे के बारे में बताता था और फिर लोगों को अपने झासे में लेकर ठग लेता था। इसके बाद फरार हो जाता था। पुलिस ने इस नायाब चश्मे को भी बदमाशों के पास से बरामद किया है। पुलिस के अनुसार गैंग के सदस्य लोगों को बताते थे कि यह चश्मा भारत में एक-दो बड़े अधिकारियों के पास ही है, जिसे मैं आपको दे सकता हूं, जिसकी मदद से आप अपना गड़ा हुआ खजाना ढूढ़ सकते हैं। जब ये लोग उस व्यक्ति को चश्मे को दिखाते और सामने वाले की आंख में लगाते तो गैंग के सदस्य पीछे खड़े होकर प्रोजेक्टर से फिल्म प्रोजेक्ट करते थे, जिससे दीवार पर कंकाल दिखता और वे व्यक्ति इन ठगों के झांसे में आ जाता है और उसको दीवार पार खड़ा व्यक्ति दिखने लगता। इसी तरह वे लोगों को और भी कई कारनामे करके दिखला कर अपने जाल में फंसा लेते थे।

चावल को चलाकर दिखाते थे चश्मे का नमूना

पुलिस के मुताबिक गैंग के सदस्य लोगों को समझाते थे कि जो धातु पुरानी हो जाती है, उसमें चुंबकीय शक्ति आ जाती है और वह चावल को अपनी तरफ खींचने लगता है। तब बदमाश यंत्र में चिप लगाकर रिमोट से कनेक्ट कर चावल के दानों को पास में लाते। इसी तरफ नागमणि और मोर पंख आदि दिखाकर बदमाश लोगों को झांसा देते थे।

एमएलए को भी गिरोह ने लगा दिया चूना

पुलिस के मुताबिक इन जालसाजों ने आम आदमी के साथ ही नेताओं को भी ठगा है। पुलिस के मुताबिक भिनगा विधायक असलम रायनी के परिवार के सदस्यों को झांसे में लेकर बदमाशों ने 21 लाख रुपए ऐंठ लिए, फिर फरार हो गए। पुलिस ने मुठभेड़ और फायरिंग के बाद इस अंतरराज्यीय ठगों के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन बदमाशों के पास से 2,18,000 रुपए, दो अदद विशेष धातु से विशेष रूप से निर्मित काफी वजनी चश्मा, एक अदद गोल बांट नुमा विशेष धातु से निर्मित (चिप लगा) यंत्र, तीन अदद पुराने सिक्के, एक अदद गोल धातु में लेंस लगा यंत्र, तीन लाल मोती, दो अदद तमंचा, दो खोखा कारतूस, चार जिन्दा कारतूस 12 बोर, पांच अदद चाकू समेत कई मोबाइल फोन बरामद किए हैं। गिरफ्त में आए अभियुक्तों में मुरादाबाद निवासी आमिर उर्फ गुड्ढू, लखीमपुर खीरी निवासी खलील, पीलीभीत निवासी अशोक गुप्ता, बहराइच निवासी गोपाल उर्फ माइनुद्दीन, अनीस अहमद, मो. रिजवान और रामनरेश श्रीवास्तव, नई दिल्ली के मो. कयूम शामिल हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned