नोटबन्दी के विरोध में यहां महिलाओं ने किया अनोखा प्रदर्शन, पढ़िये ये खबर

नोटबन्दी के विरोध में यहां महिलाओं ने किया अनोखा प्रदर्शन, पढ़िये ये खबर
mahila

Akansha Singh | Publish: Jan, 11 2017 09:01:00 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बीते 8 नवम्बर 2016 की रात देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से बाक़ायद देश को संबोधित कर 500 और 1000 के पुरानी करेंसी के प्रचलन वाले नोट पर रोक लगाई थी।

बहराइच। बीते 8 नवम्बर 2016 की रात देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से बाक़ायद देश को संबोधित कर 500 और 1000 के पुरानी करेंसी के प्रचलन वाले नोट पर रोक लगाई थी। आदेश जारी करने के बाद से अचानक बिगड़ी अर्थव्यवस्था अभी तक पूरी तरह पटरी पर नहीं आ पायी है। गरीब, कामगार, किसान, मजदूर, व्यापारी सहित हर वर्ग का इंसान नोटबंदी के दंश को बुरी तरह झेल रहा है।

सुबह से लेकर रात तक लोग बैंको में जमा अपनी गाढ़ी कमाई को पाने की जद्दोजहद में कतार लगे हुए हैं। इसके बावजूद खाली हाथ मायूस वापस लौट रहे हैं। यहां तक की तमाम लोगों की जान भी गई हैं। उसके बावजूद नोटों की किल्लत का हल अभी तक नहीं निकल सका है। बैंक हो या ATM, सभी जगह नो कैश का नोटिश बोर्ड बैंको में अपनी रकम निकालने जाने वाले उपभोक्ताओं को मुंह चिढ़ाने का काम करता नजर आ रहा है। वहीं केंद्र सरकार भी मानों इस समस्या को हल करने के बजाय अपने कानों में तेल डाल कर महज तमाशा देख रहा है। इसी समस्या से आहत सीमावर्ती जिले बहराइच की महिला कांग्रेस कमेटी की जिलाध्यक्ष खैरुलनिशा के नेतृत्व में बड़ी तादात में महिलाओं ने एक जुट होकर नोट बन्दी के फैसले के बाद कुम्भकर्णी नींद में मस्त केंद्र की मोदी सरकार को जगाने और प्रधानमंत्री के कानों तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए हाथों में बेलन और थाली बजाते हुए अपना विरोध नए अंदाज में जाहिर किया।


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned