ससुराल जा रहे युवक की बीच रास्ते मे गोली मार कर हुई हत्या, आक्रोशित भीड़ ने पुलिस टीम पर बोला हमला

बहराइच जिले में अपराधियों के हौसले इस कदर बुलन्द हैं कि उनकी सेहत पर पुलिस और कानून का मानों जरा भी खौफ नहीं।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 24 May 2018, 11:57 AM IST

बहराइच. बहराइच जिले में अपराधियों के हौसले इस कदर बुलन्द हैं कि उनकी सेहत पर पुलिस और कानून का मानों जरा भी खौफ नहीं। यही नहीं संगीन से संगीन वारदात होने के बाद मौके पर देर से पहुंचने वाली पुलिस टीम को आक्रोशित भीड़ के जबरदस्त आक्रोश का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ऐसी की एक ज्वलन्त घटना थाना हरदी क्षेत्र से सामने आई है जहां के करेहना गांव का रहने वाला तेजराम यादव नाम का एक युवक साईकिल पर सवार होकर अपनी ससुराल के लिये घर से निकला था।

इसी बीच गांव से करीब 15 किलोमीटर के फासले पर अज्ञात बदमाशों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या की घटना के बाद मौके पर काफी देर से पहुंची थाना हरदी की पुलिस टीम की हीलाहवाली से आस पास के ग्रामीणों का गुस्सा पुलिस टीम के ऊपर फूट पड़ा। इस दौरान हत्या की वारदात से आक्रोशित ग्रामीणों ने घटना स्थल पर काफी देर बाद पहुंची पुलिस फोर्स पर ही पथराव शुरू कर दिया। इस घटना में पुलिस की गाड़ी के शीशे बुरी तरह चकनाचूर हो गये। साथ ही कुछ पुलिसकर्मियों को भी हलकी चोटें आई है। घटना स्थल पर मौजूद पुलिस की क्षतिग्रस्त गाड़ी तोड़फोड़ और पथराव की गवाही स्वयं दे रही है लेकिन पुलिस के आलाधिकारी इतनी बड़ी संगीन घटना को दबाने के लिये गाड़ी किसी भी तरह के पथराव और तोड़फोड़ की घटना से साफ की इंकार कर रहे हैं। फिलहाल पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और इस घटना के खुलासे के लिए तफ्तीश में जुटी हुई है।

हरदी थाना इलाके के मुरलीपुरवा करेहना गांव का रहने वाला तेजराम यादव देर शाम साइकिल से ससुराल जा रहा था की तभी हरदी थाना क्षेत्र के ही खरचहा चौराहे के पास पहुंचने पर अज्ञात हमलावरों ने उस पर फायरिंग कर दी। गोली लगने से मौके पर ही वो गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई। हत्या की जानकारी मिलते ही सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ मौके पर इकट्ठा हो गयी। सरे शाम युवक की हत्या से गुस्साये लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को हटाने के लिये बल प्रयोग कर दिया जिसके बाद नाराज लोंगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुये पुलिस की गाडियों पर पथराव कर दिया।

पुलिस की गाडी के टूटे शीशे और सीट पर बिखरा हुआ कांच पुलिस के उस बयान की पोल खोलता नज़र आ रहा है जिसमे खुद जिले के कप्तान किसी भी तरह के पथराव से इनकार कर रहे हैं जानकारी के मुताबिक मौके पर आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया जिसमें गाड़ियों के क्षतिग्रस्त होने के साथ साथ कई पुलिसकर्मियों को हलकी चोटें भी आई है। इस घटना पर ग्रामीणों ने थाना हरदी पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए है। ग्रामीणों का कहना है की घटना के समय मौके पर एक डायल 100 गाडी खड़ी थी जो गोली चलने के बाद भी शव के आस पास तक नहीं आई ऐसे में जब थाने की पुलिस कई घंटों के बाद पहुची तो भीड़ का गुस्सा फुट पड़ा और पथराव शुरू हो गया ग्रामीणों ने पुलिस पर लाठीचार्ज का भी आरोप लगाया हैं हालात बेकाबू होते ही मौके पर कई थानो की फोर्स ने पहुच कर काबू पाया हालांकि पुलिस अधीक्षक ने किसी भी तरह के पथराव की बात से इनकार किया है उन्होंने बताया की प्रथमदृष्टया हत्या का कारण रंजिश सामने आ रहा है फील्हाल इस पर टीमें गठित कर दी गई है और पुरे मामले की गहनता से जांच करवाई जा रही है और जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा। पुलिस पर लगे आरोपो के सवाल पर उन्होंने कहा की जांच में अगर कोई पुलिसकर्मी दोषी पाया जाता है तो उस पर भी सख्त कार्रवाई की जायेगी।

Show More
आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned