प्रशासन ने धरने पर बैठे 39 प्रशिक्षु लेखपालों को दिया बर्खास्तगी का नोटिस

प्रशासन ने धरने पर बैठे 39 प्रशिक्षु लेखपालों को दिया बर्खास्तगी का नोटिस

Ruchi Sharma | Publish: Jul, 13 2018 05:50:50 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

राजस्व लेखपालों का धरना प्रदर्शन जारी

श्रावस्ती. जिले के जूनियर हाईस्कूल भिनगा में आठ सूत्रीय मांगों को लेकर शुरू हुआ राजस्व लेखपालों का धरना प्रदर्शन पांचवे दिन भी जारी रहा। इस दौरान लेखपालों ने प्रशासन द्वारा संगठन को कमजोर करने व कर्मचारियों पर किए जाने वाले उत्पीड़न कार्रवाई के विरोध में सरकार विरोधी नारे बाजी भी किया। इस दौरान मंडल खंड मंत्री ने मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दिया।


धरना प्रदर्शन के दौरान लेखपाल संघ के खंडमंत्री देवीपाटन मंडल आशुतोष मिश्र ने कहाकि सरकार हमारे आंदोलन को दबाना चाहती है। इसीलिए सरकार राजस्व लेखपालों पर उत्पीड़ानात्मक कार्रवाई कर उन्हें डरा धमका कर वापस ड्यूटी पर बुलाना चाहती है। इसी लिए कल 39 प्रशिक्षु लेखपाल साथियों पर कार्यवाही करते हुए बर्खास्तगी का नोटिस भी दिया है। जिससे लेखपालों को डरने की कोई जरूरत नहीं है। हमारा आंदोलन आर या पार होगा। यदि सरकार ने हमारी मांग न मानी तो हम उग्र आंदोलन करेंगे। इसी दौरान लेखपाल गोविंद नाथ मिश्र ने कहा कि लेखपाल वेतन उच्चीकरण, वेतन विसंगति दूर करने, भत्तों में वृद्धि, राजस्व परिषद द्वारा प्रस्तावित राजस्व उप निरीक्षक सेवा नियमावली 2017 को कैबिनेट से पारित कराने, लैपटाप व स्मार्टफोन उपलब्ध कराने, प्रोन्नति देने व आधार भूत सुविधाएं व संसाधन मुहैया कराने को लेकर लगातार हम मांग कर रहे हैं। इसके बावजूद शासन द्वारा उनकी मांग पूरी नहीं की गई। जो लेखपालों के साथ छलावा है। हम अपना हक लेकर रहेंगे। लेखपाल बाबादीन राव ने कहा कि प्रशासन द्वारा कई लेखपालों पर एफआईआर व उत्पीड़ात्मक कारवाई की गई। जिससे लेखपाल संवर्ग आहत है। लेखपालों पर की गई कार्रवाई समाप्त करने, उन पर दर्ज एफआईआर वापस लेने तथा मांगे पूरी होने तक राजस्व लेखपालों का कार्य बहिष्कार व धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। इस दौरान लेखपालों द्वारा अपनी मांगों के समर्थन में सरकार विरोधी नारेबाजी भी की गई। इस मौके पर अनंत राम, अशोक मिश्र, राजमणि शुक्ला, रवींद्र नाथ तिवारी, मोहम्मद उमर, प्रदीप चौधरी, संतोष यादव, धर्मेश दत्त गुप्ता, जगत राम शुक्ला, अर्जुन पटेल व अनिल कुमार सहित काफी संख्या में लेखपाल मौजूद रहे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned