इस भाजपा नेता की मौत, पुलिस ने दर्ज की हत्या की एफआईआर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आई यह वजह

Karishma Lalwani | Updated: 26 Jul 2019, 07:49:21 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- BJP बूथ अध्यक्ष परमानंद निषाद की मौत

- परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

- पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आई दूसरी वजह

बहराइच. थाना हुजरपुर क्षेत्र के बीजेपी बूथ अध्यक्ष परमानंद निषाद की मौत का मामला एक बार फिर गरमा गया है। दो दिन से लापता मृतक भाजपा (BJP) नेता की लाश भंगहा गांव के पास तालाब में महज अंडर वियर पहनी अवस्था में तैरती हुई बरामद हुई। मृतक की आंखों पर चोट के गहरे निशान व खून की धार बहती हुई बरामद हुई। वहीं मृतक के बदन की चमड़ी भी जगह-जगह से उधड़ी हुई थी, जिसके आधार पर मृतक के परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया और पुलिस टीम ने परिजनों की तहरीर पर हत्या की धाराओं थाना हुजूरपुर में 302 का मुकदमा दर्ज कर इंसाफ का भरोसा जताया था। वहीं पुलिस के अफसर का कहना है कि रिपोर्ट के आधार पर उक्त घटना को हत्या नहीं बल्कि डूबने का मामला है। वहीं पीड़ित परिजन पुलिस की रिपोर्ट पर सवाल खड़ा कर हत्या का आरोप लगा रहे हैं। इस बात से नाराज मृतक की विधवा पत्नी और बच्चों समेत गांव के हजारों ग्रामीणों ने डीएम कार्यालय के सामने रोडजाम कर घण्टों उग्र प्रदर्शन किया।और मामले की निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई जांच की मांग की है।

मृतक के परिवार ने हाईवे किया जाम

बीजेपी बूथ अध्यक्ष परमानंद निषाद की हत्या के मामले में धारा 302 की FIR दर्ज करनें वाली बहराइच पुलिस द्वारा की गई जांच रिपोर्ट में भाजपा नेता की मौत को तालाब में डूबकर मौत बताने पर मृतक नेता के परिवारीजनों का गुस्सा पुलिस पर निकला। पीड़ित परिवारीजनों के साथ हजारों ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन कर हाईवे पर जाम लगा दिया। मृतक की पत्नी रिंकी ने अपने पति की मौत के प्रकरण की सीबीआई जांच की मांग की है। सिटी मजिस्ट्रेट व पुलिस के अफसरों ने प्रदर्शनकारी लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया। प्रकरण की जांच एसओ हुजूरपुर से हटाकर क्राइम ब्रांच को सौंपी गई। मृतक की पत्नी ने बताया कि उनके पति का शव जब तालाब से उतराता निकाला गया, तब उनकी आंखों व गुप्तांग पर चोट के निशान थे। पीड़िता ने पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर की सत्यनिष्ठा पर भी सवाल खड़े किये। पीड़िता के समर्थन में बड़ी संख्या में ग्रामीण लामबंद होकर प्रदर्शन में शामिल होने गांव से कलेक्ट्रेट आए। तकरीबन एक घंटे तक हाईवे जाम रहा। दोनों और वाहनों की लंबी-लंबी कतार लग गई।

यह है पूरा मामला

हुजूरपुर थाना क्षेत्र के भंगहा गांव के डॉक्टर पुरवा निवासी परमानंद निषाद (38) बीजेपी के बूथ प्रमुख थे। 13 जुलाई की रात गांव से दो किलोमीटर दूर पासिनपुरवा में झोथई पुत्र कन्धई के घर निमंत्रण (बरही) में गए थे। पड़ोसी चन्द्रभान निषाद ने बताया कि रात में कुछ लोग परमानन्द के कपड़ा व मोटरसाइकिल घर पर लाकर छोड़ गए। घरवालों ने सोचा कि शायद वह मछली पकड़ने वाले जाल को देखने गए होंगे। देर रात तक लापता युवक के न आने पर परिवार वालों ने खोजबीन शुरू की। 14 जुलाई को जानकारी पयागपुर विधानसभा से बीजेपी विधायक सुभाष त्रिपाठी के बेटे निशंक त्रिपाठी को दी गई। इस पर वह सक्रिय हुए। आनन फानन में एनडीआरएफ की टीम भी नदी व जलभराव वाले इलाकों में खोजबीन में जुट गई लेकिन लापता युवक का पता नही लगा। इसके बाद परिवारीजनों की सूचना पर हुजूरपुर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर ली। 15 जुलाई की सुबह लापता युवक का शव खोजबीन के दौरान तालाब में उतराता पाया गया। मृतक की आंखों पर चोट व नाक से खून भी निकलने की बात परिवारीजनों ने कही थी। परिवारीजनों ने युवक को अगवा कर हत्या करने के बाद शव को पानी में फेंक देने का आरोप लगाया था।

ये भी पढ़ें: तीन तलाक बिल पर विरोध, बताया इसे मुस्लिम महिलाओं को नुकसान पहुंचाने वाला बिल

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में तालाब में डूबने से हुई मौत की पुष्टि

एसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि मृतक परमानंद निषाद की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एन्टी मार्टम इंजरी निल पाया गया। पीएम करने वाले डॉक्टर ने रिपोर्ट में मृत्यु का कारण डूबने से मृत्यु दर्शाया है। बहराइच के पयागपुर विधानसभा से बीजेपी विधायक सुभाष त्रिपाठी ने बताया कि इस प्रकरण में वे जल्द मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) से मिलकर सीबीसीआईडी जांच की मांग करेंगे। मृतक के परिवारीजनों ने हत्या किए जाने का संदेह व्यक्त किया है। पीड़ित को हर हाल में न्याय दिलाया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned