अपनी मांगों को लेकर पानी टंकी पर चढ़े रोजगार सेवक, दी यह बड़ी धमकी

अपनी मांगों को लेकर पानी टंकी पर चढ़े रोजगार सेवक, दी यह बड़ी धमकी
Gram Rojgar Sevak

Shatrudhan Gupta | Updated: 12 Dec 2017, 06:30:10 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

रोजगार सेवकों का आरोप है कि उन्हें पिछले करीब 20 माह से मानदेय का भुगतान ग्राम विकास अधिकारी द्वारा नहीं किया जा रहा है।

बहराइच. जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में तैनात सैकड़ों ग्राम रोजगार सेवकों ने जिला प्रशासन के तमाम उच्चाधिकारियों के कानों तक अपने हक की आवाज पहुंचाने के लिये एकजुट होकर शहर की पानी टंकी के ऊपर चढ़कर अपनी आवाज बुलन्द की। पानी टंकी पर चढ़कर अपनी आवाज बुलन्द कर रहे इन सभी रोजगार सेवकों का आरोप है कि उन्हें पिछले करीब 20 माह से मानदेय का भुगतान ग्राम विकास अधिकारी द्वारा नहीं किया जा रहा है, जबकि हम सभी लगभग 10 साल से विभिन्न ग्राम पंचायतों में बतौर रोजगार सेवक के तौर पर तैनात हैं। मानदेय का भुगतान न होने के चलते सभी रोजगार सेवक भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं। ग्राम सेवकों ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन होगा, जिसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी।

अधिकारों का हनन हो रहा है

आक्रोशित रोजगार सेवकों ने आरोप लगाया कि ब्लॉक स्तर से रोजगार सेवकों का मास्टर रोल नहीं दिया जा रहा। वहीं, मास्टर रोल पर बिना रोजगार सेवक के हस्ताक्षर के भुगतान निकाला जा रहा है, जो रोजगार सेवकों के अधिकारों के हनन से जुड़ा हुआ संगीन मामला है। इसी अव्यवस्था से आहत जिले के सैकड़ों रोजगार सेवकों ने सिविल लाइन इलाके में स्थित पानी टंकी के ऊपर चढ़कर अपना आक्रोश प्रकट किया।

परिवार का भरण-पोषण नहीं कर पा रहे

शहर की पानी टंकी पर एकजुट होकर पहुंचे जिले के सैकड़ों ग्राम रोजगार सेवकों ने अपनी आवाज बुलंद करने के लिये पानी टंकी के ऊपर चढ़ कर जिला प्रशासन और सरकार से अपने मानदेय भुगतान के संबंध में जमकर प्रदर्शन किया। सभी ग्राम रोजगार सेवको का कहना था कि ग्राम पंचायतों में रोजगार सेवकों के द्वारा मनरेगा सहित सभी अन्य कार्य पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ किये जाने के बावजूद भी मानदेय का भुगतान लगभग 20 माह से नहीं किया जा रहा है, जिसकी वजह से रोजगार सेवक अपने परिवार का भरण पोषण नहीं कर पा रहे हैं।

अधिकार के लिए आवाज की बुलंद

ग्राम सेवकों ने बताया कि जो ब्लॉक स्तर पर हैं, उनको मास्टर रोल नहीं दिया जा रहा है तथा मास्टर रोल पर बिना रोजगार सेवक के हस्ताक्षर के भुगतान भी कर दिया जा रहा है, जो किसी कीमत पर न्याय संगत नही है। इन्हीं बातो के साथ ही रोजगार सेवकों के अधिकार की आवाज बुलंद करने की कड़ी में हम आज सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर जिले के समस्त रोजगार सेवकों ने अपना विरोध दर्ज करवाया। इस दौरान पीडि़त रोजगार सेवकों ने जिलाधिकारी को प्रेषित अपनी मांगों से संबंधित एक ज्ञापन अफसरों को सौंप कर जल्द से जल्द मामले का हल निकालने की मांग की।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned