गाजियाबाद से बिहार जा रही 20 ड्रम जहरीली शराब की खेप के साथ तीन तस्कर गिरफ्तार

Abhishek Gupta

Publish: May, 17 2018 09:59:48 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
गाजियाबाद से बिहार जा रही 20 ड्रम जहरीली शराब की खेप के साथ तीन तस्कर गिरफ्तार

ट्रक के अंदर 20 ड्रामों में लोड 4 हजार लीटर जहरीली (रेक्टिफाईड स्प्रिट) अल्कोहल की खेप बरामद हुई।

बहराइच. भारत नेपाल बार्डर से सटे बहराइच जिले में आबकारी विभाग की टीम ने छापेमारी कर नकली शराब के कारोबार का संचालन करने वाले 3 शातिरों के साथ करीब 4 हजार लीटर जहरीले अल्कोहल की खेप से भरी एक DCM ट्रक समेत 3 तस्करों को अपनी गिरफ्त में लिया है। पूछताछ के दौरान गिरफ्त में आये शातिरों ने बताया कि वो गाजियाबाद के लोनी इलाके से 20 ड्रम अल्कोहल की खेप को DCM ट्रक में लोड करके बिहार के मोतिहारी इलाके में सप्लाई के लिये ले जा रहे थे। इसी बीच बहराइच जिले के जिला आबकारी अधिकारी प्रगल्भ लवानिया ने अपनी टीम के साथ थाना पयागपुर इलाके के शिवदहा मोड़ के पास घेराबन्दी कर ट्रक की सघन तलाशी ली, जिसमें ट्रक के अंदर 20 ड्रामों में लोड 4 हजार लीटर जहरीली (रेक्टिफाईड स्प्रिट) अल्कोहल की खेप बरामद हुई। टीम 3 आरोपियों को अपनी कस्टडी में लेकर पूछताछ कर रही है। इस प्रकरण के बारे में जानकारी देते हुए जिला आबकारी अधिकारी प्रगल्भ लावनिया ने बताया कि बरामद (रेक्टिफाईड स्प्रिट) अल्कोहल से करीब 12 हजार लीटर नकली शराब तैयार होती, जिसकी कीमत लगभग 50 लाख रुपये तक आँकी जा रही है। साथ ही इस जहरीले अल्कोहल से तैयार होने वाली नकली शराब से बहुतों की जान भी जा सकती थी। वहीं गिरफ्त में आये महेश नाम के आरोपी ने बताया कि उसकी गाड़ी को गाजियाबाद में रोका गया और कागज देखकर छोड़ दिया गया।

जिला आबकारी अधिकारी प्रगल्भ लवानियां ने बताया कि उन्हें गोपनीय जानकारी मिली थी कि बहराइच के रास्ते में भारी मात्रा में नकली शराब की खेप जाने वाली है। इस सूचना पर पयागपुर क्षेत्र के शिवदहा मोड़ के पास तेज रफ्तार में जा रही डी.सी.एम ट्रक को पकड़ा गया। इसपर भारी मात्रा में जहरीले अल्कोहल की खेप के साथ ट्रक में सवार तीन लोगों को हिरासत में लिया गया। पड़ताल में पता चला कि इस एल्कोहल को गाजियाबाद के लोनी इलाके से डीसीएम पर लादकर बिहार के मोतिहारी ले जाया जा रहा था। हिरासत में लिए गए लोगों की पहचान संभल जिले के चंदौसी निवासी महेश कुमार पुत्र कलेक्टर सिंह, सुनील पुत्र जगदीश व सत्यपाल पुत्र मोतीलाल के रूप में हुई।

उन्होंने बताया कि बरामद चार हजार लीटर एल्कोहल से बारह हजार लीटर शराब तैयार की जाती है। इससे विभाग को करीब 30 लाख के राजस्व का नुकसान होता। छापामारी में आबकारी निरीक्षक अरविंद सिंह, दीनेन्द्र सिंह, आबकारी सिपाही प्रमोद सिंह, अतुल सिंह व विनय वर्मा शामिल रहे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned