देखिये महबूबा की खातिर यूपी पुलिस का सिपाही क्यों बन गया अपहरणकर्ता!

देखिये महबूबा की खातिर यूपी पुलिस का सिपाही क्यों बन गया अपहरणकर्ता!
Police Kidnaps Kid

Abhishek Gupta | Updated: 08 Sep 2016, 07:57:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बहकावे में आकर खाकीधारी सिपाही ने इश्क के जाल में फंसकर अपहरणकर्ता का चोला पहन 35 लाख की फिरौती का कांड रच डाला।

राजीव शर्मा. 
बहराइच. किसी ने सही कहा है की इश्क करना बच्चों का खेल नहीं। एक सनसनी खेज मामला बहराइच जिले में सामने आया है जिसकी कहानी किसी बॉलीवुड फ़िल्म की पटकथा नहीं बल्कि यूपी पुलिस के एक सिपाही की लव स्टोरी से जुडी हुयी एक सच्ची घटना है। इसमें बहराइच जिले के कोतवाली देहात इलाके के रंजीतपुर गाँव का रहने वाला मनीष कश्यप नाम का एक आर्म्स पुलिस का सिपाही जो की मौजूदा समय में बलरामपुर जिले में तैनात है, उसका प्रेम सम्बन्ध माधवरेती इलाके के रहने वाली शारदा यादव नाम की युवती के साथ काफी अरसे से चल रहा था। लड़की भी भी SSB और सिविल पुलिस की नौकरी के लिए प्रयासरत थी। दोनों का प्रेम सम्बन्ध इस कदर परवान चढ़ा की मनीष कश्यप नाम का सिपाही अपनी अय्याशी और महबूबा के सारे शौक पूरे करने के लिए लोगों का कर्जदार तक बन गया।

इसी बीच एक माह की छुट्टी लेकर आया मनीष कश्यप नाम का सिपाही अपनी महबूबा के जाल में इस कदर अंधा हो गया की प्रेमिका के महंगे शौक की फरमाईस को पूरा करने के लिए उसने अपनी प्रेमिका के द्वारा बताये गए पड़ोस के एक 10 साल के बच्चे का अपहरण कर उसके पिता से मोबाइल फोन पर 35 लाख की फिरौती मांगने का काण्ड कर डाला। इस बात से सिपाही की प्रेमिका को पुख्ता यकीन था कि बच्चे का अपहरण करने से न सिर्फ उसके महंगे शौक की फरमाईस पूरी हो जाएगी, बल्कि लोगों के कर्ज में डूबे सिपाही को मुक्ति भी मिल जायेगी। इसी बहकावे में आकर खाकीधारी सिपाही ने इश्क के जाल में फंसकर अपहरणकर्ता का चोला पहन 35 लाख की फिरौती का कांड रच डाला। 

कोतवाली देहात इलाके के रहने वाले नंगू वर्मा नाम के एक ट्रैकटर चालक के 10-वर्षीय बच्चे शिवम् वर्मा का अपहरण 2 दिन पहले घर के सामने से हो गया जिससे जिले की पुलिस को अचानक पसीना आ गया। वहीं घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधिक्षक सालिक राम वर्मा के निर्देश पर एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी और सीओ सिटी विजय शंकर मिश्रा ने कोतवाली नगर, कोतवाली देहात सहित पुलिस की कई टीमों को लगाकर महज 23 घण्टे के दौरान सर्विलांस की मदद से आरोपी और उसकी प्रेमिका के कब्जे से अपहृत बच्चे को सकुशल बचाने में कामयाबी हासिल की है। जबकि भोला पासी नाम का एक अभियुक्त अभी पुलिस के फंदे से आजाद चल रहा है। गिरफ्त में आये लोगों के पास से घटना में प्रयुक्त की गयी टाटा इंडिगो कार और 4 मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं। जिले के पुलिस अधीक्षक ने मामले का खुलासा करने वाली टीम को 5 हजार रूपये का इनाम देने का ऐलान किया है।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned