अन्य पिछड़ा वर्ग से 1984 के मांगे जा रहे प्रमाण

जाति प्रमाण पत्र के प्रकरण किए जा रहे खारिज

बालाघाट. अनिल ने एक माह पहले लोक सेवा केन्द्र में डिजीटल जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया था। इस आवेदन के साथ आवेदक ने पूर्व से जारी हस्तलिखित अन्य पिछड़ा वर्ग का जाति प्रमाण पत्र की मूल प्रति भी जमा करवाई थी। मगर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ने इस प्रकरण को 1984 की स्थिति में पारिवारिक सिजरा (वंशावली) नहीं होने की टीप लिखते हुए निरस्त कर दिया। अब आवेदक परेशान है और पारिवारिक सिजरा रिपोर्ट तैयार कराने के लिए पटवारी के चक्कर काट रहा है। यह परेशानी अकेले अनिल की नहीं बल्कि अन्य पिछड़़ा वर्ग के उन तमाम आवेदकों की है जिनके पास पहले से ही जाति प्रमाण पत्र है और वह अब डिजीटल जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर रहे है। दरअसल, एसडीएम कार्यालय से इन आवेदनों को पटवारी द्वारा बनाई जाने वाली 1984 की स्थिति में पारिवारिक सिजरा रिपोट नहीं होने की वजह से खारिज किया जा रहा है। जबकि नियमानुसार जिनके पास पूर्व से हस्तलिखित जाति प्रमाण पत्र उन आवेदकों के आवेदन के साथ 1984 की स्थिति में पारिवारिक सिजरा मांगने का कोई औचित्य ही नहीं है। ज्ञात रहे कि इसी आधार पर पूर्व में जाति प्रमाण पत्र जारी किए गए है।
जानकारी अनुसार जब कोई अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति का आवेदक पहली बार डिजीटल जाति प्रमाण पत्र के लिए लोक सेवा केन्द्र में आवेदन करता है। तो उसे पटवारी द्वारा बनाई जाने वाली 1950 की वंशावली भी लगानी होती है। इसी तरह अन्य पिछड़ा वर्ग के आवेदक को भी 1984 की स्थिति की वंशावली लगानी होती है। इसी आधार पर जाति प्रमाण पत्र जारी किया जाता है। लेकिन जिन आवेदकों के पास पूर्व से ही जाति प्रमाण पत्र उपलब्ध है और वह अपने जाति प्रमाण पत्र को डिजीटल बनवाना चाहते है। ऐसे आवेदक आवेदन पत्र के साथ आधार कार्ड, समग्र आईडी और पूर्व में जारी हस्तलिखित जाति प्रमाण पत्र की मूल प्रति जमा करवाकर डिजीटल जाति प्रमाण पत्र निर्धारित समय-सीमा में बनवा सकते है। लेकिन यहां कटंगी में अन्य पिछड़ा वर्ग के आवेदक जिनके पास हस्तलिखित जाति प्रमाण पत्र है अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय से उनके आवेदनों को निरस्त किया जा रहा है। जिस वजह से आवेदक खासे परेशान हो रहे है। आवेदकों ने कलेक्टर का ध्यानाकर्षण कराते हुए व्यवस्था सुधरवाने की मांग की है।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned