3 दिनों से अंधेरे में डूबा बाड़ारेव

बिजली न होने से वन्यप्राणियों का गांव में प्रवेश कर जाने का खतरा बढ़ा  

By: Prashant Sahare

Published: 23 Dec 2016, 11:24 PM IST

कटंगी. क्षेत्र की मॉयल नगरी तिरोड़ी तहसील अंतर्गत वन क्षेत्र से सटे ग्राम बाड़ारेव में बीते तीन दिन से अंधेरा पसरा हुआ है। इस कारण ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा बिजली गुल होने से वन्यप्राणियों का गांव में प्रवेश कर जाने का खतरा बढ़ गया है। ग्रामीणों ने बताया कि बिजली गुल रहने से उनके दैनिक कामकाज प्रभावित हो रहे हैं और स्कूल से आने के बाद शाम के वक्त बच्चे पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। ग्रामीणों ने विद्युत विभाग को इस संबंध में शिकायत कर दी है, लेकिन विभाग तीन दिन में भी फाल्ट नहीं ढूंढ पाया है। जूनियर इंजीनियर ने भरोसा दिया है कि शीघ्र ही बाड़ारेव की बिजली पुन: शुरू हो जाएगी।
इस सम्बंध में सरपंच विजय सोनवाने, प्रकाश सोनवाने, चुन्नीलाल परते, सुभाष सोनवाने, संतोष उइके, नेहरू मसराम सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि बुधवार की सुबह 10 बजे अचानक बिजली गुल हुई, इसके बाद अब तक शुरू नहीं हो पाई है। उन्होंने बताया कि बिजली गुल की सूचना उसी दिन शाम को विभाग के अधिकारियों को दी गई। उन्होंने दिखवाने की बात कहीं, लेकिन तीन दिन बीतने के बाद भी बिजली प्रांरभ नहीं हो पाई हैं। विभागीय अधिकारी से जब इस बारे में चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि फाल्ट ढूंढने की पूरी कोशिश की जा रही है, जल्द ही बिजली शुरू हो जाएगी। 

इनका कहना है
बाड़ारेव में बिजली गुल होने की सूचना प्राप्त हुई है कर्मचारियों को भेजा गया है वह पता लगा रहे हैं कि आखिर बिजली क्यों गुल है।
एस चौकसे, जूनियर इंजीनियर, तिरोड़ी

Prashant Sahare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned