आंबेडकरवाद से ही हो सकता है शोषित-पीडि़त एवं मूलनिवासी बहुजन समाज का कल्याण

आंबेडकरवाद से ही हो सकता है शोषित-पीडि़त एवं मूलनिवासी बहुजन समाज का कल्याण

mukesh yadav | Publish: Dec, 07 2017 04:10:51 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

संकल्प दिवस के तौर पर मनाया गया डॉ बाबासाहेब का 61वां महापरिनिर्वाण दिवस

बालाघाट। आजाद भारत के पहले कानून मंत्री एवं संविधान के निर्माता डॉ बाबासाहेब आंबेडकर का 61 वां महापरिनिर्वाण दिवस बुधवार को संकल्प दिवस के रुप में मनाया गया। जिला मुख्यालय में संकल्प दिवस पर नगर के आंबेडकर चौक में बुद्धिस्ट आंबेडकराईट लोगों ने माल्र्यापण कर बाबासाहेब के आदर्शो पर चलने का संकल्प लिया।
डॉ आंबेडकर सार्वजनिक जयंती समारोह की ओर से आयोजित इस संकल्प दिवस के कार्यक्रम में बाबासाहेब की प्रतिमा पर माल्र्यापण किया। इसके बाद उन्हें आदरांजली अर्पित करते हुए त्रिशरण, पंचशील धारण किया। सार्वजनिक जयंती समारोह समति के अध्यक्ष पीडी गेडाम ने कहा कि आज के ही दिन डॉ आंबेडकर का महापरिनिर्वाण हुआ था।
कार्यक्रम में पहुंचे एम्बस आर्गनाइजर आरके रूषिकर ने कहा कि बाबासाहेब ने इस देश के बहुजन समाज को हक अधिकार दिलाने जीवन पर्यंत संघर्ष किया। आंबेडकरवाद से ही शोषित-पीडि़त एवं मूलनिवासी बहुजन समाज का कल्याण हो सकता है।
ये रहे कार्यक्रम में शामिल
कार्यक्रम में जिला बौद्ध संघ के अध्यक्ष जीपी हुमनेकर, जीपी हुमनेकर, उषाकिरण रामटेके, बीआर भैरम, धर्मेन्द्र रामटेके, बीडी मेश्राम, यमलेश कुमार, विनोद आड़े, रमेश पंचे, प्रिती काम्बले, रचनाकार, लोचनसिंह देशमुख ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे। वहीं एम्बस, बामसेफ, मूलनिवासी संघ एवं अन्य सामाजिक संस्थाओं एवं राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों ने भी इस कार्यक्रम में पहुंचकर डॉ बाबासाहेब आंबेडकर के 61 वें महापरिनिर्वाण दिवस पर आदरांजली अर्पित की।


कार्यकर्ताओं से एकजुटता का किया आव्हान
बालाघाट. बहुजन समाज पार्टी द्वारा भारतरत्न डॉ. बाबा साहब आम्बेडकर का ६१ वां महापरिनिर्वाण दिवस स्थानीय आम्बेडकर चौक में मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ. बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया गया। इसमें बसपा प्रदेश अध्यक्ष नर्मदाप्रसाद अहिरवार, बसपा जिलाध्यक्ष दीपक मेश्राम, जोन प्रभारी नारायणसिंह पटेल, जिला पंचायत सदस्य रामकुमार नगपुरे, दुर्गेश बिसेन, अजाबलाल शास्त्री, अनिल उके, जयचंद भौतेकर बतौर अतिथि उपस्थित रहे।
इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष अहिरवार ने बाबा साहब के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए पार्टी को मजबूत करने एकजुटता की अपील की है। उन्होंने कहा कि डॉ. बाबा साहब ने दलितों व पिछड़े वर्गो को समाज में समानता से जीने का अधिकार दिलाया। बसपा पार्टी भी बाबा साहब के विचारों व सिद्धांतों पर चलकर गरीब मजदूर व शोषित लोगों को उनके हक अधिकार दिलाने संघर्ष करती है। कार्यक्रम में बसपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned