आयुष्मान भारत योजना में आयुष चिकित्सकों की भर्ती की मांग

प्रधानमंत्री के नाम अपर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

By: mukesh yadav

Published: 25 Apr 2018, 08:22 PM IST

बालाघाट. आगामी 15 अगस्त 18 से पूरे भारत मे केन्द्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत नए स्वास्थ्य व आरोग्य केन्द्रों की स्थापना एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की सुविधा सरकार द्वारा की जा रही है। इस योजना के तहत भारत में लगभग डेढ़ लाख स्वास्थ्य व आरोग्य केन्द्र खोलने का कार्य किया जाएंगा। जिससे ग्रामीण जनता को उनके घरों के आस-पास ही चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।
जिला आयुष मेडिकल एसोसिएशन सचिव डॉ. अंकित असाटी द्वारा बुधवार को अपर कलेक्टर शिवगोविंद मरकाम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री, राज्य स्वास्थ्य मंत्री सहित आयुष्मान भारत योजना के निर्देशक मिशन संचालक के नाम एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उनके द्वारा देश के सभी आयुष चिकित्सकों ंमें बेरोजगारी व बढ़ती संख्या को देखते हुए आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत जीतने भी स्वास्थ्य एवं आरोग्य केन्द्र खोले जा रहे सभी में आयुष चिकित्सकों की भर्ती करने की मांग की है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में पूरे भारत मे करीब एक लाख से अधिक आयुष डॉक्टर बेरोजगार है जो शासकीय नौकरी के लिए भटक रहे है। वर्तमान समय मे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा सम्पूर्ण भारत मे राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। जिसमें आयुष डॉक्टरों द्वारा 18 वर्ष तक के सभी बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार कर बेहतर कार्य किया जा रहा है।

जिला चिकित्सालय में मनाया गया विश्व मलेरिया दिवस
बालाघाट. विश्व मलेरिया दिवस 25 अप्रैल को जिला अस्पताल में मनाया गया। विदित होवे कि विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन प्रति वर्ष 25 अप्रैल को पुरे विश्व मे मनाया जाता है। इसी प्रकार से जिले में भी विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन जिला स्वास्थ्य समिती, फैमिली हेल्थ इंडियाए, कम्युनिटी डेव्हलपमेंट सेंटर बालाघाट के संयुक्त सहयोग से आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य रूप से मलेरिया जागरूकता के संबध में आयोजित की गई।
प्रर्दशनी का शुभांरभ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय द्वारा किया गया तथा प्रर्दशनी को देखकर उसकी सराहना की। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभागए जिला मलेरिया विभाग तथा कम्युनिटी डेव्हलपमेंट सेंटर के अधिकारी कर्मचारी, एम्बेड परियोजना के स्टाफ भी उपस्थ्ति थे। गोदरेंज के सहयोग से संचालित एम्बेड परियोजना के तहत विश्व मलेरिया दिवस पर आयोजित इस प्रर्दशनी का मुख्य उद्देश्य मच्छर जनित बीमारियों के उन्नमुलन हेतु जन जागरूकता ज्यादा से ज्यादा लाया जाना है ए ताकि इनसे संबधित बीमारियों का जड़ से खात्मा हो सकें।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned