भाजपा के कुशासन को उखाड़ फंेकेंगे

भाजपा के कुशासन को उखाड़ फंेकेंगे

Mukesh Yadav | Publish: Sep, 03 2018 11:46:31 AM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

कांग्रेस का विशाल कार्यकर्ता सम्मेलन संपन्न

बालाघाट। परसवाड़ा क्षेत्र के स्थानीय ग्रेंड भोज लॉन में कांग्रेस का कार्यकर्ता सम्मेलन संपन्न किया गया। जिसमें करीब दो हजार से अधिक संख्या में कार्यकर्ता व पदाधिकारीगण शामिल हुए। सम्मेलन कांग्रेस के केन्द्रीय पर्यवेक्षक जनक कुशवाह के मुख्य आतिथ्य, विधायक मधुभगत की अध्यक्षता एवं मप्र कांग्रेस कमेटी के सचिव अनूपसिंह बैस की प्रमुख उपस्थिति मे संपन्न हुआ। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय पर्यवेक्षक जनक कुशवाह ने कहा कि उन्हें बालाघाट जिले में करीब चार माह का समय हो चुका हैं। जिसमें उन्होंने महसूस किया कि परसवाड़ा विधान सभा क्षेत्र में कार्यकर्ताओं का संगठन मजबूत होने का कारण विधायक मधुभगत का नेतृत्व हैं। जिसका परिणाम है कि आज लामता में हजारों की संख्या में कार्यकर्ता सम्मेलन मे उपस्थिति हुए। उन्होंने 15 वर्षों के भाजपा के कुशासन को उखाड़ फेकने की बात कही।
सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए विधायक मधुभगत ने कहा कि विधायक बनने से पहले एवं बाद मे वे जिस सेवा का कार्य कर रहे हैं वे जीवन भर करते रहेंगे। तथा कार्यकर्ताओं का जो विश्वास एवं समर्थन उन्हें मिल रहा हैं वे उसके ऋणी हैं।
कार्यक्रम के दौरान करीब 150 युवकों ने कांग्रेस की सदस्यता ली तथा वरिष्ठ कांग्रेसियों का सम्मान किया गया। जिसमें प्रमुख रूप से हरेसिंह वाडि़वा, कन्छेदीलाल जैन, गंगोत्रीप्रसाद शुक्ला, धुरनसिंह ठाकुर, टोपराम हरिनखेड़े, शाहिर, फुलसिंह भलावी, किरणबाला कसार, रमेश आमाडारे, युवराज चौहान, कन्हैयालाल राऊत, कला वल्लाडी, फुलकनबाई मड़ावी, झुम्मकलाल बोपचे, राजकुमार पाठक, सुंदर देशमुख, नानो कावरे, लतीफ पेन्टर, सिकंदर खान, राधेलाल ब्रम्हे, सुरपतसिंह तेकाम, बगस महाजन, पीसी शांडिल्य उपस्थित रहे। सम्मेलन के दौरान मप्र कांग्रेस कमेटी के सचिव बनाए जाने पर अनूप सिंह बैस का शाल एवं श्रीफल से सम्मान किया गया तथा मप्र कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कमलनाथ का आभार व्यक्त किया गया।

सम्मेलन के दौरान मप्र कांग्रेस कमेटी के सचिव बनाए जाने पर अनूप सिंह बैस का शाल एवं श्रीफल से सम्मान किया गया तथा मप्र कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कमलनाथ का आभार व्यक्त किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned