सावधान! कछुआ का शिकार किया तो हो सकती है जेल, जाने क्यों

कटंगी क्षेत्र के महदूली में वन विभाग ने संरक्षित प्राणी कछुए के 8 नग के साथ एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

By: Bhaneshwar sakure

Updated: 18 Aug 2017, 09:19 PM IST

बालाघाट. कटंगी क्षेत्र के महदूली में वन विभाग ने संरक्षित प्राणी कछुए के 8 नग के साथ एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार को मुखबिर की सूचना पर उपवनमंडलाधिकारी एलके वासनिक के निर्देशन और वन परिक्षेत्र अधिकारी हिमांशु राय के मार्गदर्शन पर वन विभाग की टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। विभाग ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर व्यवहार न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
संरक्षित प्रजाति का होता है कछुआ
जानकारी अनुसार अब तक का यह पहला मामला है जब वन विभाग ने कछुए के शिकार के मामले में कार्रवाई की है। ज्ञात हो कि वन अधिनियम ने कछुए को अनुसूची एक में रखा गया हैं, जिसमें 7 साल तक की सजा का प्रावधान है। वन विभाग द्वारा इसके संरक्षण के लिए तरह-तरह के जतन भी किए जा रहे हैं। हालांकि, कछुआ आसानी से कहीं भी मिल जाता है। जिसके कारण ग्रामीण इसे पकड़ लेते हैं। ग्रामीणों को कछुए के संरक्षित होने और उसका शिकार करने पर होने वाली कार्रवाई की जानकारी नहीं होती है। जिसके कारण अज्ञानता की वजह से ग्रामीण इसे पकड़ लेते हैं।
महदूली में की कार्रवाई
सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी ओपी जगने ने बताया कि महदूली निवासी गणेश पिता प्रभुदास टेम्भरे के निवास से 8 नग कछुए जब्त किए गए है। आरोपी के खिलाफ वन अपराध 11807/02 दर्ज कर वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 2, 9, 39, 48ए, 50, 51, 52 के तहत कार्रवाई की गई है। इस कार्रवाई के दौरान वनरक्षक अमोल गौतम, कस्तुरा उइके, सुनील परते, अभिषेक खरे का योगदान रहा।
खेत में मिले थे कछुए
ग्रामीण गणेश टेंभरे का कहना है कि उसे खेत में यह कछुए मिले है। इस वजह से उसने इन कछुओं को अपने पास रखा था। उसके द्वारा इनका शिकार नहीं किया गया है। हालांकि, कछुआ को पकड़कर उसे भोजन करने के उद्देश्य से पास में रखा था।
पहली कार्रवाई
कछुआ को पकडऩे के मामले में वन विभाग ने कटंगी क्षेत्र में पहली बार कार्रवाई की है। इसके पूर्व कभी भी इस तरह की कार्रवाई नहीं हो पाई थी। इस कार्रवाई के बाद से अब ग्रामीण सतर्क हो गए हैं।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned