रानी दुर्गावती को श्रद्धाजंलि देकर मनाया बलिदान दिवस

रानी दुर्गावती को श्रद्धाजंलि देकर मनाया बलिदान दिवस

Mahesh Kumar Doune | Publish: Jun, 24 2019 07:10:12 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

वीरांगना रानी दुर्गावती का 456 वां बलिदान दिवस व श्रद्धाजंलि समारोह रानी दुर्गावती सामुदायिक भवन में मनाया गया।

बालाघाट. वीरांगना रानी दुर्गावती का 456 वां बलिदान दिवस व श्रद्धाजंलि समारोह रानी दुर्गावती सामुदायिक भवन में मनाया गया। कार्यक्रम में उपस्थित समाज के युवाओं व महिलाओं ने रानी दुर्गावती के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धाजंलि दी। इस दौरान प्रमुख अतिथि के रूप में हिरासनबाई उइके, मप्र. आदिवासी विकास परिषद के जिला अध्यक्ष भुवन कोर्राम, संरक्षक भरत मेड़ावी, पुष्पा तिलगाम उपस्थित रहे।
कार्यक्रम के दौरान आदिवासी समाज के युवाओं व बच्चों के द्वारा मनमोहक प्रस्तुति दी गई। जिसमें आदिवासी लोकनृत्य व गोंडी गीत पर उपस्थितजनों ने तालियां बजाकर उनका उत्साहवर्धन किया गया। इस अवसर पर हिरासनबाई ने रानी दुर्गावती के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हए कहा कि रानी दुर्गावती को उनका बलिदान दिवस मनाकर याद किया जा रहा है। रानी दुर्गावती ने शत्रुओं का संहार करने के लिए घोड़े पर सवार होकर छलांग लगाई थी और इसी दौरान वीरगति को प्राप्त हुई थी। वे गोंडवाना की रणचंडी, दुर्गावती भवानी थी। उन्होंने समाज के लोगों को एकजुटता के साथ कार्य कर समाज को आगे बढ़ाने का आव्हान किया।
युवाओं ने किया पौधरोपण
रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर आदिवासी समाज के युवाओं ने पौधरोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया। आदिवासी विकास परिषद के नगर अध्यक्ष महेन्द्र गुड्डु उइके ने कहा कि आदिवासी समाज के लोगों के घर-घर जाकर एक पौधा लगाया जाएंगा। उन्होंने लोगों से पर्यावरण के बिगड़ते संतुलन को बनाए रखने पौधरोपण करने का आव्हान किया। कार्यक्रम में करण मेरावी, पीतमसिंह उइके, नरहरि मेरावी, पारस धुर्वे, वैभवसिंह मर्सकोले, जीवन उइके सहित अन्य सामाजिक बंधु शमिल रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned