पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शालाओं में लिया जा रहा है शुल्क

पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शालाओं में लिया जा रहा है शुल्क

Bhaneshwar Sakure | Publish: Jul, 13 2018 08:52:53 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

नियमों को ताक पर रख रहे अधिकारी, शासन ने शुल्क नहीं लेने के दिए है आदेश

बालाघाट.पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शालाओं में किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। बावजूद इसके जिले के शासकीय शिक्षण संस्थानों में ऐसे श्रमिकों के बच्चों से शुल्क लिया जा रहा है। विडम्बना यह है कि जिन बच्चों से शुल्क के एवज में किसी भी प्रकार की पावती या रसीद नहीं दी जा रही है। जबकि मप्र शासन ने मार्च माह में ही पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शुल्क नहीं लेने के आदेश जारी कर दिए है।
जानकारी के अनुसार २४ मार्च को मप्र शासन स्कूल शिक्षा विभाग भोपाल के उपसचिव मप्र शासन स्कूल शिक्षा विभाग प्रमोद सिंह द्वारा आयुक्त लोक शिक्षण मप्र भोपाल को पत्र जारी किया गया था। जिसमें स्पष्ट रुप से आदेशित किया गया है कि प्रदेश के समस्त शासकीय स्कूलों में अध्ययनरत पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। बावजूद इसके जिले में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शुल्क लिया जा रहा है। ऐसा मामला नगर मुख्यालय में संचालित शालाओं का प्रकाश में आया है। इधर, शिक्षकों के डर के चलते कोई भी बच्चा खुलकर सामने नहीं आ रहा है। वहीं दूसरी ओर शिक्षा विभाग के अधिकारी इस तरह के आदेश तो होने की बात कह रहे हैं। लेकिन आदेश की कोई कॉपी उन्हें नहीं मिलने की भी बात कह रहे हैं। जिसके चलते असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शुल्क लेने का कार्य बदस्तूर जारी है।
डीईओ के जानकारी में भी है मामला
पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों से शुल्क लिए जाने की जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी को भी है। लेकिन शुल्क नहीं लिए जाने के कोई आदेश नहीं मिलने के कारण वे इस मामले में कार्रवाई नहीं कर पा रही है। जिला शिक्षा अधिकारी निर्मला पटले का कहना है कि उन्होंने इस मामले में आयुक्त लोक शिक्षण भोपाल को पत्र लिखकर मार्गदर्शन मांगा है। मार्गदर्शन में यदि आयुक्त लोक शिक्षण द्वारा शुल्क लौटाए जाने या फिर कोई कार्रवाई किए जाने के आदेश दिए जाते हैं तो उसके आधर पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
इनका कहना है
इस मामले में आयुक्त लोक शिक्षण भोपाल से मार्गदर्शन मांगा गया है। उनके द्वारा जो भी मार्गदर्शन दिया जाता है, उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
-निर्मला पटले, जिला शिक्षा अधिकारी, बालाघाट

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned