सीएम ने की बच्चों के साथ वादाखिलाफी-

सीएम ने की बच्चों के साथ वादाखिलाफी-

Mukesh Yadav | Updated: 25 Jun 2018, 08:42:41 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

उत्कृष्ट में नहीं अंग्रेजी माध्यम

कटंगी। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान पर किसान, सरकारी कर्मचारी, व्यापारी तथा आम आदमी कई बार वादाखिलाफी का आरोप लगा चुके हैं। लेकिन पहली बार स्कूली छात्र-छात्राओं ने भी उन पर यह आरोप लगाया है। दरअसल, सैकड़ों विद्यार्थी उत्कृष्ट विद्यालय में अंग्रेजी माध्यम शुरू नहीं होने से नाराज है। ज्ञात हो मुख्यमंत्री ने इसी वर्ष 15 अप्रैल को वारासिवनी में कृषक समृद्धि योजना का शुभारंभ कार्यक्रम में मंच से उत्कृष्ट विद्यालयों में कक्षा नवमीं एवं दसवीं में नए सत्र से अंग्रेजी माध्यम की कक्षाएं प्रारंभ करने की घोषणा की थी। लेकिन नवीन सत्र की शुरूआत होने के 10 दिन बाद भी उत्कृष्ट विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम शुरू नहीं हो पाया है। इस कारण सैकड़ों बच्चे निराश है तथा मजबूरी में हिन्दी माध्यम में प्रवेश ले रहे हैं। उधर, कांग्रेस इस अवसर को भुना रही है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार करीब 4 वर्ष पहले ही प्रदेश के सभी उत्कृष्ट माध्यमिक विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम शुरू कर चुकी है। लेकिन अब तक कई हाईस्कूल उत्कृष्ट विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम शुरू नहीं हो पाया है। नगर का उत्कृष्ट विद्यालय इन्हीं विद्यालयों में शामिल है। जानकारी अनुसार कक्षा 9 में नवीन प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण पात्र विद्यार्थी अंग्रेजी माध्यम में प्रवेश लेना चाहते थे। लेकिन उत्कृष्ट में अंग्रेजी माध्यम नहीं होने के कारण सभी मायुश हो गए।

कटंगी। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान पर किसान, सरकारी कर्मचारी, व्यापारी तथा आम आदमी कई बार वादाखिलाफी का आरोप लगा चुके हैं। लेकिन पहली बार स्कूली छात्र-छात्राओं ने भी उन पर यह आरोप लगाया है। दरअसल, सैकड़ों विद्यार्थी उत्कृष्ट विद्यालय में अंग्रेजी माध्यम शुरू नहीं होने से नाराज है। ज्ञात हो मुख्यमंत्री ने इसी वर्ष 15 अप्रैल को वारासिवनी में कृषक समृद्धि योजना का शुभारंभ कार्यक्रम में मंच से उत्कृष्ट विद्यालयों में कक्षा नवमीं एवं दसवीं में नए सत्र से अंग्रेजी माध्यम की कक्षाएं प्रारंभ करने की घोषणा की थी। लेकिन नवीन सत्र की शुरूआत होने के 10 दिन बाद भी उत्कृष्ट विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम शुरू नहीं हो पाया है। इस कारण सैकड़ों बच्चे निराश है तथा मजबूरी में हिन्दी माध्यम में प्रवेश ले रहे हैं। उधर, कांग्रेस इस अवसर को भुना रही है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार करीब 4 वर्ष पहले ही प्रदेश के सभी उत्कृष्ट माध्यमिक विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम शुरू कर चुकी है। लेकिन अब तक कई हाईस्कूल उत्कृष्ट विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम शुरू नहीं हो पाया है। नगर का उत्कृष्ट विद्यालय इन्हीं विद्यालयों में शामिल है। जानकारी अनुसार कक्षा 9 में नवीन प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण पात्र विद्यार्थी अंग्रेजी माध्यम में प्रवेश लेना चाहते थे। लेकिन उत्कृष्ट में अंग्रेजी माध्यम नहीं होने के कारण सभी मायुश हो गए।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned