वैनगंगा नदी का जल स्तर बढ़ाने होगा स्टाप डेम का निर्माण

Bhaneshwar Sakure

Publish: May, 17 2019 09:30:35 PM (IST)

Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट. वैनगंगा नदी का जल स्तर बढ़ाने जल प्रदाय के लिए बने इंटकवेल के पास स्टाप डेम का निर्माण कराया जाएगा। ताकि पानी संरक्षित हो सकें और वैनगंगा नदी का जल स्तर बढ़ सकें। इधर, जल संकट को देखते हुए कलेक्टर ने बालाघाट व वारासिवनी की जल प्रदाय व्यवस्था को देखा। वहीं नगर पालिका परिषद वारासिवनी में हो रही दो वक्त की जल सप्लाई में एक बार ही पानी देने का निर्णय लिया है। ताकि बालाघाट शहर में पानी की जलापूर्ति पर संकट न आ सकें।
जिले में इन दिनों पड़ रही गर्मी के कारण नगरीय क्षेत्र बालाघाट, वारासिवनी और वैनगंगा नदी किनारे के ग्रामों में जलसंकट की संभावना को देखते हुए कलेक्टर दीपक आर्य ने 17 मई को वैनगंगा नदी में जल प्रदाय के लिए बने इंटक वेल व फिल्टर प्लांट का निरीक्षण किया। इस दौरान मुख्य नगर पालिका अधिकारी गजानन नाफडे भी उनके साथ मौजूद थे। कलेक्टर आर्य ने बताया कि नगरीय क्षेत्र बालाघाट व वारासिवनी में पेयजल प्रदाय करने के लिए वैनगंगा नदी में अभी पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध है। लेकिन आने वाले वर्षों में गर्मियों के दिनों में वैनगंगा नदी से पेयजल प्रदाय करने में समस्या आ सकती है। इसके लिए अभी से कदम उठाने की आवश्यकता है और मितव्ययता के साथ पानी का उपयोग करने की जरूरत है। वैनगंगा नदी में बालाघाट व वारासिवनी को जल प्रदाय के लिए बनाए गए इंटकवेल में पर्याप्त पानी है। लेकिन जल प्रदाय व्यवस्था को बेहतर बनाने व उपलब्ध पानी का उचित प्रबंधन करने के लिए नगरीय क्षेत्र बालाघाट, वारासिवनी में दिन में एक बार ही पर्याप्त मात्रा में पानी प्रदाय करने के निर्देश दिए गए है।
बूढ़ी फिल्टर प्लांट के इंटकवेल के पास बनेगा डेम
इधर, वैनगंगा नदी के पानी को संरक्षित करने के लिए नगरीय क्षेत्र बालाघाट के बूढ़ी स्थित फिल्टर प्लांट के इंटकवेल के पास स्टाप डेम का निर्माण किया जाएगा। ताकि पानी संरक्षित हो सकें और जल प्रदाय में किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो। इसके अलावा वैनगंगा नदी से जुड़े ग्रामों में भी कुछ स्थानों पर स्टाप डेम का निर्माण कराया जाएगा। ताकि भविष्य में पानी स्टोर हो सकें।
माचागोरा जलाशय से आएगा पानी
कलेक्टर ने बताया कि वैनगंगा नदी में जल की मात्रा बढ़ाने के लिए छिंदवाड़ा जिले के माचागोरा जलाशय से पानी पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। माचागोरा जलाशय से पहले भीमगढ़ बांध में पानी छोड़ा जाएगा। इसके बाद भीमगढ़ बांध से वैनगंगा नदी में पानी आएगा। माचागोरा जलाशय का पानी वैनगंगा नदी में आने से नदी का जल स्तर काफी बढ़ जाएगा। जिससे पानी की किल्लत पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned