ठेकेदार पर बेटी और बहू को बंधक बनाने का लगाया आरोप

ठेकेदार पर बेटी और बहू को बंधक बनाने का लगाया आरोप

mahesh doune | Publish: Sep, 08 2018 09:29:05 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

लांजी थाना अंतर्गत बकरामुण्डी निवासी एक महिला द्वारा एसडीओपी को बहु व लडक़ी को भौरे लांजी निवासी एक व्यक्ति द्वारा बंधक बनाकर रखे जाने की शिकायत दी।

ठेकेदार पर बेटी और बहू को बंधक बनाने का लगाया आरोप
महिला ने एसडीओपी से शिकायत कर न्याय दिलाने लगाई गुहार
रिसेवाड़ा/लांजी. लांजी थाना अंतर्गत बकरामुण्डी निवासी एक महिला द्वारा एसडीओपी को बहु व लडक़ी को भौरे लांजी निवासी एक व्यक्ति द्वारा बंधक बनाकर रखे जाने की शिकायत दी। पीडि़त महिला ने एसडीओपी से मांग की है कि इस मामले को गंभीरता से लेकर जांच कर बहु बेटी को उक्त व्यक्ति के चंगुल से छड़ाया जाए।
शिकायत में महिला शकुन्तला पति स्वर्गीय रमेश बुढ़ावने ने बताया कि भौरे लांजी निवासी चैतराम महसूरे करीम नगर शिरशिला जिला मर्चियाल में वर्तमान में रहता है। महिला ने बताया कि पुत्र शंकर बुढ़ावने द्वारा ६ माह पूर्व पति की बीमारी का ईलाज कराने 130000 रुपए चैतराम से लिया था। उधारी राशि मेरे दोनों पुत्र शंकर, महेश व बहु दुर्गाबाई एवं लडक़ी के मजदूरी करने के एवज में ली गई। राशि उधार लेने के बाद परिवार के चार लोग ६ माह तक ठेकेदार चैतराम के पास मजदूरी किए है। जिसमें ठेकेदार चैतराम के द्वारा मिस्त्री के 700रुपए व रेजा(महिला मजदूर) के 300 रुपए मजदूरी देने की बात हुई। लेकिन ठेकेदार ने मिस्त्री के 500 रुपए व रेजा के 200 रुपए ही दिया गया।
नहीं कर रहा हिसाब
महिला शकुन्तला ने बताया कि मेरे पुत्र शंकर ने ठेकेदार चैतराम से ६ तक की मजदूरी का हिसाब करने कहा। लेकिन ठेकेदार हिसाब न कर उधार ली गई राशि लौटाने धमकी देता है। ठेकेदार हर सप्ताह चार लोगों के हिसाब से खाना व खर्च के लिए 2000 रुपए देता था। हिसाब करने बोलने पर गांव लौटोगे तो बकाया राशि लौटा दूंगा बोल टालते रहा। पुत्र शंकर को हृदय की बीमारी होने पर गांव वापस लौटने कहा तो ठेकेदार ने धमकी दी कि मेरे 130000 रुपए लौटा कर जाओ। महिला ने बताया कि दो पुत्र व बहु एवं लडक़ी चारों की मजदूरी का हिसाब करने पर ठेकेदार पर पैसे निकलते है। लेकिन ठेकेदार द्वारा बेटी व बहु को बंधक बनाकर रखा गया है और जब तक राशि नहीं देते वापस नहीं छोडऩे की धमकी दी जा रही है। उन्होंने इस मामले की जांच कर न्याय दिलाने की अपील की है।

Ad Block is Banned