सीआरपीएफ ने लगाया शिविर, ग्रामीणों की सुनी समस्याएं

सीआरपीएफ १२३ वीं बटालियन ने गुरुवार को नक्सल प्रभावित गांवों में शिविर लगाया। ग्रामीणों की समस्याएं सुनी।

By: Bhaneshwar sakure

Updated: 18 Aug 2017, 12:25 PM IST

बालाघाट. सीआरपीएफ १२३ वीं बटालियन ने गुरुवार को नक्सल प्रभावित गांवों में शिविर लगाया। ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। साथ ही उन्हें सोलर लेंप का वितरण भी किया। इस दौरान ग्रामीणों ने सीआरपीएफ के अधिकारियों को अनेक समस्याएं बताई। साथ ही उसका निराकरण किए जाने की मांग भी की। इस कार्यक्रम में मुख्य रुप से सीआरपीएफ के प्रदेश सेक्टर आईजी पंकज कुमार मौजूद रहे।
सीआरपीएफ आईजी ने किया निरीक्षण
गुरुवार को आईजी पंकज कुमार ने 123 बटालियन और इसकी विभिन्न कंपनियां, जो जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनात है, का भ्रमण किया। बालाघाट जिले के संवेदनशील इलाकों में छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र राज्य से लगे जंगलों में सीआरपीएफ की ६ कंपनियां नक्सल विरोधी अभियान में लगी है। निरीक्षण के दौरान सीआरपीएफ आईजी ने जवानों की समस्याएं भी जानी। उनका हौंसलाअफजाई भी किया। इस दौरान जवानों ने आईजी सीआरपीएफ को कार्य के दौरान आने वाले परेशानियों से भी अवगत कराया।
नक्सली उन्मूलन के लिए तैनात है कंपनी
जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सीआरपीएफ की अलग-अलग कंपनियां तैनात की गई है। खासतौर पर मप्र से सटे छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्री सीमा से लगे हुए क्षेत्रों में इन कंपनी के जवानों को तैनात किया गया है। ताकि नक्सली किसी भी प्रकार की घटनाओं को अंजाम न दे सकें। हालांकि, सीआरपीएफ के अलावा जिला पुलिस बल, हॉक फोर्स, एसएएफ के जवान भी सुरक्षा के लिहाज से तैनात किए गए हैं।
यहां हुआ शिविर का आयोजन
इस भ्रमण के दौरान आईजी सीआरपीएफ ने ग्राम पंचायत बिठली के बैगाटोला और पांड्राटोला में शिविर का आयोजन किया। जिसमें ग्राम पंचायत के सरपंचों, ग्रामीणों से चर्चा की। उनकी समस्याओं को जाना। उन्होंने, बटालियन के कमांडरों को निर्देशित किया कि वे इन ग्रामीणों की व्यक्तिगत, समाजिक और आर्थिक समस्याओं को सुने। साथ ही इन समस्याओं को सिविल अधिकारियों तक ले जाएं। इनका समाधान करने का भरसक प्रयास करें। जिससे सीआरपीएफ और ग्रामीणो ंके बीच सौहाद्रपूर्ण माहौल बना रहेगा। आईजी सीआरपीएफ पंकज कुमार ने ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधा भी मुहैया करवाए जाने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर सीआरपीएफ के कमाडेंट सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned