नो एंट्री से परेशान ट्रांसपोर्ट व ट्रेक्टर मालिक

कलेक्ट्रेट पहुंच नो एंट्री का समय बदलने कलेक्टर से लगाई गुहार

By: mukesh yadav

Updated: 29 Mar 2019, 03:54 PM IST

Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट. नगर में भारी वाहनों के नो एंट्री का मामला थमने का नाम नही ले रहा है। धान परिवहन के चलते कुछ समय के लिए नो एंट्री के समय में छूट हुई तो ट्रांसपोटर्स भी खुश हो गए। लेकिन परिवहन का कार्य समाप्त होते ही प्रशासन ने एक बार फिर से नो-एंट्री का फरमान जारी कर दिया हैं। इससे ट्रांसपोटर्स व ट्रेक्टर संचालक परेशान हो गए है और व्यापार को ठप्प होता देख ट्रांसपोर्ट व टेक्ट्रर मालिकों ने २८ मार्च को कलेक्ट्रेट पहुंच कलेक्टर दीपक आर्य से मिलकर नो एंट्री का समय बदलने की मांग की है।
इस दौरान ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन अध्यक्ष पूरनसिंह भाटिया ने बताया कि पड़ोसी जिले गोंदिया व सिवनी में बाय पास मार्ग होने से वहां के व्यापारियों को नो एंट्री की समस्या का सामना करना नही पड़ता। लेकिन बालाघाट जिले मे बाय पास मार्ग न होने से व्यापारियों को परेशान होना पड़ रहा हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन की इस सख्ती के चलते ट्रांसपोटर्स बेरोजगार होकर घरों पर बैठ रहे है और उनके साथ मजदूर भी परेशान हो रहे है। उन्होंने कहा कि गर्मी के दिनों में वैसे भी जिले में नो एंट्री नही लगती थी लेकिन वर्तमान समय में प्रशासन की ये पाबंदी ट्रांसपोर्ट कारोबार को ठप्प कर रही हैं।
सब्जी और फल के ट्रकों पर भी लागू कर दी नो एंट्री सब्जी मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष बबलूसाव सेवईवार ने बताया कि पहले नो एंट्री के दौरान सब्जी फल परिवहन कर रहे वाहनों को जाने दिया जाता था। लेकिन अब ये भी नो एंट्री के दायरे में आ गए है और वाहनों को बाहर ही खड़ा करवा दिया जा रहा है जिससे व्यापार प्रभावित हो रहा हैं।
पूर्व की तरह रखे नो एंट्री समय
वर्तमान समय में सुबह 7 से लेकर दोपहर 1 बजे और शाम 4 बजे से लेकर 10 बजे तक नो एंट्री का समय निर्धारित किया गया हैं। ट्रांसपोर्टरों ने बताया कि वर्तमान समय में गर्मी होने से मजदूर 1 से 4 बजे के बीच काम नही कर पा रहा हैं। ऐसे मे न महज हमाल वर्ग बेरोजगार हो रहा है बल्कि व्यापारी भी बेरोजगार हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व की तरह नो एंट्री समय सुबह 7 से ९ बजे तक व 11 से दोपहर १ बजे तक एवं शाम 4 से 6 बजे तक रखा जाए। इसके अलावा अवकाश के दिनों मे नो एंट्री नही लगाने की मांग की हैं। उन्होंने कहा कि इस समस्या का समाधान नही हुआ तो आंदोलन करेंगे और लोकसभा चुनाव का बहिष्कार किया जाएंगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned