दूषित जल की सढांध मारती दुर्गंध से परेशान वार्डवासी

गंभीर बीमारी फैलने की बढ़ी आशंका, गंदगी का माहौल

Mukesh Yadav

September, 1312:06 PM

Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट। मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम कोसमी के करीब ३० से ४० घरों के वार्डवासी इन दिनों सढ़ांध मारती दुर्गंध से बेजा परेशान है। गंदगी भरा माहौल और बदबू होने से इन्हें गंभीर बीमारियां फैलने की आशंका सता रही हैं। इन वार्डवासियों का कहना है कि अब उनका जीना मुहाल होने लगा है। जानकारी के अनुसार वार्डवासियों की यह समस्या गोंदिया रोड के समीप स्थित एक मिल के कारण उत्पन्न हो रही है।
कोसमी के ग्रामीण दीपक दमाहे ने बताया कि कोसमी गोंदिया रोड में राईस मिल संचलित है। मिल संचालक द्वारा मिल के पीछे खाली प्लाट में धान के छिलके व सड़ा हुआ चांवल डाल दिया गया है। इस कारण बेजा दुर्गंध आती है। लोगों का उक्त स्थान से गुजरना तक मुहाल हो गया है। राईस मिल के निकट कई दुकाने व 30 से 40 घर के ग्रामीण निवास करते है। जिनका अपने घरों में रहना भी मुश्किल हो रहा है। वार्डवासियों ने बताया कि इस समस्या को लेकर उन्होंने मिल संचालक से भी निवेदन किया। लेकिन उन्होंने पूरे मामले से पलड़ा झाड़ लिया और कहा गया कि हमारे द्वारा कोई चांवल या अपिशिष्ट पदार्थ नहीं डाला गया है। खाली प्लाट में कई घरों के निस्तार का पानी आता है इस कारण दुर्गंध आती होगी।
व्यापारियों का धंधा प्रभावित
गोंदिया रोड मेें मिल के सामने हॉटल चलाने वाले नीरज दशहरे ने बताया कि कुछ दिनों से हॉटल के सामने से बेजा दुर्गंध आना प्रारंभ हुई। तब उन्होंने जानकारी ली तो पता चला कि मिल संचालक द्वारा खाली प्लाट में चांवल डाल दिए गए थे। जो कि बारिश के पानी में सढ़कर अब सढांध मारती बदबु का रूप ले लिए। इस मामले की जानकारी मिल संचालक व पंचायत को दी गई। इसके बाद खाली प्लाट में कीटनाशक दवा का छिड़काव भी किया गया। लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। दशहरे ने बताया कि बेजा दुर्गंध आने से उनकी हॉटल में भी ग्राहक आना पसंद नहीं कर रहे हैं। बदबु के कारण उनका व्यापार भी प्रभावित हो रहा है।
समस्या के निराकरण की मांग
दुर्गंध से परेशान क्षेत्र के नीरज दशहरे, सालिक सोनी, बाबुलाल मलघाटे, चंद्रेश दशहरे, सुमित नगपुरे, संतोष डहारे, सोनु लिल्हारे, दीपक दमाहे, अरुण लिल्हारे व अन्य ने बताया कि जल्द ही इस समस्या का समाधन नहीं किया गया तो ग्रामीणों द्वारा कलैक्टर को शिकायत की जाएगी। इसके बाद भी निराकरण नहीं हुआ तो आंदोलन किया जाएगा।
वर्सन
मिल संचालक को मिल से निकलने वाले अपिशष्ट पदार्था की निकासी की व्यवस्थ करनी चाहिए। मिल संचालक को कोई अधिकार नहीं है कि ग्रामीणों के जीवन से खिलवाड़ करें। यहा ं मिल के निकट के रहवासी मिल से निकलने वाली दुर्गंध से परेशानी हो चुके हैं। अब हमारे द्वारा वार्डवासियों से मिलकर कलेक्टर से शिकायत करने का मन बनाया गया है।
संतोष डहारे, पंच ग्रापं कोसमी

mukesh yadav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned