पेयजल व्यवस्था 7 दिनों के लिए बाधित

पाईप लाईन शिफ्ंिटग कार्य के चलते टैंकर से होगा पानी सप्लाई

By: mukesh yadav

Published: 04 Jan 2018, 07:37 PM IST

बालाघाट. कटंगी शहर के सिवनी रोड पर 7 दिनों तक पेयजल व्यवस्था प्रभावित होगी। नगर परिषद् ने रहवासियों के लिए टैंकरों के माध्यम से पानी पहुंचाने का निर्णय लिया है। मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्रीकांत पाटर ने बताया कि सिवनी रोड पर पाईन लाईन शिफ्टिंग का कार्य होना है। इसी के चलते इस ओर की पेयजल व्यवस्था को 7 दिनों के लिए बंद किया जाएगा। वहीं रहवासियों तक टंैकरों से पानी पहुंचाने की वैकल्पिक व्यवस्था की गई है।
जनकारी अनुसार सिवनी रोड पर नवीन सड़क निर्माण कार्य होना है। जिसमें सड़क का विस्तार होगा। इसी लिहाज से इस मार्ग की पाईन लाईन को शिफ्ट किया जाना है। इस लाईन का विस्तार होने में करीब सप्ताह भर का समय लग सकता है। इसलिए नगर परिषद् ने सिवनी रोड की ओर के सारे घरेलु एवं सार्वजनिक नलों की ओर जाने वाले मुख्य कनेक्शन को बंद कर दिया है। सीएमओ ने कहा कि इस दौरान रहवासियों को पानी की समस्या का सामना ना करना पड़े। इस बात का विशेष ख्याल रखा जाएगा तथा नियमित सुबह एवं शाम के वक्त टैंकरों के माध्यम से पानी पहुंचाया जाएगा।
ज्ञात हो कि सिवनी रोड पर पाईप लाईन शिफ्ंिटग नहीं होने से सड़क निर्माण कार्य बीच में रूका हुआ है और राहगीर तथा स्थानीय नागरिक धूल-मिट्टी से बेजा परेशान है। इस कारण गत दिवस प्रशासनिक अधिकारियों ने इस मामले का गंभीरता से लेते हुए शीघ्र ही पाईप लाईन शिफ्टिंग कराने के निर्देश दिए थे।

7 जनवरी को निकलेगी ग्राम मंगल पदयात्रा
बालाघाट। इस वर्ष भी जिले के दो स्थान वारासिवनी क्षेत्र के लिंगमारा से रामपायली और जरामोहगांव से रामपायली के बीच श्रीराम बालाजी ग्राम मंगल पदयात्रा के नाम से दो यात्रा निकाली जाएगी। जिसमें कई उपयात्राएं भी शामिल होगी। जिनका मिलन रामपायली में होगा।
श्रीराम बालाजी ग्राम मंगल पदयात्रा के संयोजक डिलेश्वर राहंगडाले ने बताया कि यह पदयात्रा दोनों ही स्थानों से 7 जनवरी को सुबह 7 बजे प्रारंभ होगी। जो अपरान्ह 3 बजे रामपायली पहुंचेगी। जहां इसका समापन होगा। उन्होंने बताया कि यह तीसरी यात्रा होगी। इससे पूर्व विगत दो वर्षो से एकता, भाईचारा, समरसता, स्वदेशी भाव, पर्यावरण, भारतीय संस्कृति के आधार पर ग्राम विकास, जैविक खेती एवं गौसेवा को बढ़ावा और परिवार में धार्मिक एवं संस्कारवान, नशामुक्ति वातावरण बनाने के उद्देश्य से यह यात्रा निकाली जा रही है। खासकर रामपायली को राम वनगमन मार्ग के भारतीय मानचित्र में स्थापित करवाना आयोजन का एक प्रमुख उद्देश्य है।
इन्होंने बताया की दोनों ही स्थानों से निकलने वाली ग्राम मंगल पदयात्रा में करीब 10 से 15 हजार लोग शामिल होने का अनुमान है। जिन्हें आयोजन समिति की ओर से यात्रा के समापन पर केले के पत्ते में भोजन कराया जाएगा।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned