कोरोना काल में गांव में ही ग्रामीणों को मिल रहा है रोजगार

ग्राम पंचायत द्वारा कराए जा रहे हैं निर्माण कार्य

By: Bhaneshwar sakure

Published: 01 May 2021, 10:26 PM IST

बालाघाट. जिले में कोरोना आपदा काल में महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अर्थात मनरेगा मजदूरों के लिए रोजगार का अवसर बनी हुई है। जनपद पंचायत बालाघाट की गाम पंचायत गोंगलई इस योजना के अंतर्गत मजदूरों को रोजगार दे रही है। जिससे यहां के मजदूरों में काम मिलने से खुशी का माहौल है। कोरोना के चलते जनता कफ्र्यू लगा हुआ है जिसके कारण लोगों के पास काम का संकट बन गया है। काम के अभाव में लोग अपने घरों में बैठ गए हैं और उन्हें रोजगार की चिंता सता रही है। महानगरों में काम कर अपनी रोजी-रोटी चलाने वाले मजदूरों के सामने कोरोना का संकट परेशानी का सबब बन गया है। ऐसे में ग्राम पंचायत गोंगलई मनरेगा योजना के अंतर्गत नाला निर्माण का कार्य कर रही है।
ग्राम पंचायत गोंगलई के प्रधान गंगा प्रसाद लिल्हारे ने बताया कि उनकी पंचायत में मनरेगा के अंतर्गत 8 से साढ़े 8 लाख रुपए की लागत से नाला निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। इसमें पिछले एक सप्ताह से महिला और पुरुष लगभग 50 से अधिक मजदूर प्रतिदिन काम कर रहे हैं और उन्हें रोजगार मिल रहा है। इस काम के मिलने से मजदूरों में खुशी है। महिला मजदूरों ने बताया कि काम के अभाव में रोजगार का संकट बन गया था। लेकिन इस काम मिलने से वे बहुत खुश है और कोरोना के समय नियमों का पालन कर रहे हैं और मास्क का भी उपयोग कर रहे हैं। ग्राम पंचायत गोंगलई द्वारा भी मास्क का वितरण किया गया है और मजदूर मास्क पहनकर काम कर रहे हैं। काम करने के चलते वे पूरी तरह स्वस्थ भी है।
ग्राम प्रधान गंगा प्रसाद लिल्हारे ने बताया कि शासन प्रशासन के दिशा निर्देशन में मनरेगा योजना के अंतर्गत मजदूरों के लिए स्थानीय स्तर पर मिट्टी का काम प्रारंभ किया गया है। जिसके अंतर्गत नाला निर्माण किया जा रहा है। यह कार्य गोंगलई से कोसमी तक नाला गहरीकरण और चौड़ीकरण का है। काम की समस्या से जूझ रहे लोगों को स्थानीय स्तर पर ही रोजगार उपलब्ध कराया गया है और उसमें उन्हें कोरोना गाइड लाइन का पालन करवाया जा रहा है। ग्राम पंचायत गोंगलई में कराए जा रहे नाला गहरीकरण व चौड़ीकरण के कार्य में ग्राम प्रधान गंगाप्रसाद लिलहारे, उपसरपंच कमलेश लिल्हारे, सचिव मंजू मिश्रा, रोजगार सहायक अवलेश बिरनवार सहित अन्य की प्रमुख उपस्थिति में इस निर्माण कार्य को गति दी जा रही है। सुबह 5 से 6 बजे के बीच मजदूर काम करने के लिए पहुंच जाते हैं और तेज धूप के समय अपने अपने घर के लिए रवाना हो जाते हैं। जिससे सुबह ठंडे समय में अधिकाधिक काम कर अपने नियत खंती के हिसाब से काम कर घर चले जाते हैं। इस नाले की साफ सफाई व चौड़ीकरण नहीं होने से पानी की निकासी इस समस्या बनी हुई थी परंतु ग्राम पंचायत गोगलई ने इस काम को हाथ में लेकर मनरेगा योजना के अंतर्गत नाला की साफ -सफाई के साथ उसके चौड़ीकरण का कार्य भी कराया जा रहा है। जिसके कारण गांव में पानी निकासी सहित अन्य समस्या समाप्त हो जाएगी।
मनरेगा के इस काम में मजदूरी करने वाली मीना आमाडारे ने बताया कि पंचायत में काम मिलने से वे संतुष्ट है। वह प्रतिदिन पिछले एक सप्ताह से काम करने आ रही है। ग्राम पंचायत में काम मिलने से उन्हें रोजगार की समस्या नहीं रह गई है। कोरोना के समय काम मिलना उनके लिए राहत भरा है ।

Bhaneshwar sakure
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned