रीडिंग लिए बगैर ही उपभोक्ताओं को थमाए जा रहे बिजली बिल

Bhaneshwar sakure

Publish: Nov, 15 2017 01:05:50 (IST)

Balaghat, Madhya Pradesh, India
रीडिंग लिए बगैर ही उपभोक्ताओं को थमाए जा रहे बिजली बिल

२५ हजार से अधिक उपभोक्ताओं पर १६ मीटर वाचक

बालाघाट. यदि आपको अधिक बिजली बिल आया है तो परेशान या हैरान होने की कोई बात नहीं है। दरअसल, विद्युत विभाग के पास मीटर वाचकों की कमी है। जिसके चलते विभाग उपभोक्ताओं को बगैर रीडिंग लिए ही मनमाना बिल थमा रहा है। आलम यह है कि अधिक बिल देखकर उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं। मजबूरी में कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं।
जानकारी के अनुसार बिजली विभाग द्वारा पिछले दो माह से आधे से अधिक उपभोक्ताओं को मीटर से बगैर रीडिंग लिए ही बिल थमाया जा रहा है। जिसके कारण उपभोक्ताओं को न केवल परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बल्कि खपत से अधिक बिल मिलने पर हैरान भी हो रहे हैं। भटेरा चौकी वार्ड क्रमांक २ निवासी एक उपभोक्ता ने बताया कि विभाग द्वारा उन्हें बगैर रीडिंग लिए ही बिजली बिल थमा दिया गया है। विभाग द्वारा जारी बिल के अनुसार उसे मौजूदा समय में २७७ यूनिट का बिल थमाया गया है। बिल में वर्तमान रीडिंग १२८०६ और पहले की रीडिंग १२५२९ दर्शाई गई है। जबकि १४ नवम्बर को भी मीटर में १२७३७ यूनिट ही बिजली खपत हुई है। इस तरह से विभाग द्वारा मनमाने तरीके से बिजली बिल का वितरण किया जा रहा है।
मीटर वाचकों की हो रही भर्ती
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बालाघाट शहर में २५ हजार ८०० उपभोक्ता हैं। इन उपभोक्ताओं के मीटर की रीडिंग लेने के लिए केवल १६ मीटर वाचक ही है। इनमें से अधिकांश मीटर वाचक तो रीडिंग लेने पहुंचते ही नहीं है। वहीं अपने मनमर्जी से खपत दर्शाकर उसका बिल उपभोक्ताओं को थमा देते हैं। यह सिलसिला काफी दिनों से चल रहा है। हालांकि, विभाग द्वारा नए मीटर वाचकों की भर्ती की जा रही है।
अब हो रही फोटो रीडिंग
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार विभाग ने मीटर रीडिंग के लिए नया तरीका शुरू किया है। अब मीटर वाचक मीटर की फोटो लेंगे। जिसके आधार पर ही बिल जनरेट होगा। विभागीय अधिकारियों ने संभावना व्यक्त की है कि फोटो युक्त रीडिंग लेने से इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

शहर में २५ हजार ८०० उपभोक्ताओं पर १६ मीटर वाचक है। हालांकि, नए मीटर वाचकों की भर्ती की जा रही है। विभाग ने फोटो युक्त रीडिंग लेने का कार्य शुरू कर दिया है। जिन उपभोक्ताओं के साथ इस तरह की परेशानी हुई है, वे अपने बिल को सुधरवा सकते हैं।
-आरके बिहोने, एई, विद्युत विभाग शहर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned