सरकार की वादा खिलाफी से किसान आक्रोशित

Bhaneshwar Sakure

Publish: Oct, 11 2019 09:23:50 PM (IST) | Updated: Oct, 11 2019 09:23:51 PM (IST)

Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट/लालबर्रा. नगर मुख्यालय में 11 अक्टूबर को दोपहर करीब १ बजे किसानों ने रैली निकालकर दस सूत्रीय मांगों का ज्ञापन तहसील कार्यालय में पहुंचकर राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन तहसीलदार की अनुपस्थिति में कानूनगो एमआर घरडे को सौंपा। किसानों की यह रैली लालबर्रा के वृत्ताकार सोसाइटी से निकाली गई थी। इसके पूर्व सोसायटी में बड़ी संख्या किसान जमा हुए थे। इस दौरान किसानों ने सरकार कि वादा खिलाफ नीति के विरुद्ध नारेबाजी भी की।
सरपंच खेमराज हरिनखेड़े ने बताया कि किसानों की समस्याओं को लेकर यह रैली निकाली गई है। ज्ञापन सौंपकर किसानों की समस्याओं का निराकरण किए जाने की मांग की गई है। जिसमें प्रमुख रूप से मुख्यमंत्री आवास योजना का कर्ज माफ करने, किसानों का दो लाख रुपए का कर्ज माफ करने, सोसायटी की मनमानी के विरुद्ध, किसानों को बिजली विभाग के द्वारा मनमानी बिल थमाए जाने के विरोध में सहित अन्य मांगों को लेकर यह ज्ञापन सौंपा गया। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में बिजली कब आती है कब चली जाती है उसका कोई पता नहीं रहता है। सोसायटी का कर्ज अभी तक किसानों का माफ नहीं हुआ है। किसानों की सभी फसल का समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने, पंजीयन की तारीख बढ़ाए जाने, बिजली की अघोषित कटौती बंद किए जाने सहित अन्य मांगों का निराकरण किए जाने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि यदि किसानों की मांगे पूरी नहीं होती है तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।
इस अवसर पर मुख्य रुप से खेमराज हरिनखड़ेे सरपंच, दीपक मेश्राम, अनिल उके, लालचंद चौहान, गौतम मेश्राम, फिरोज नियाजी, एलआर सोनवाने, बाला प्रसाद सोनवाने, डेलीराम पटले, कुंजीलाल ठाकरे, व्यंकट सोनवाने, ईश्वरी प्रसाद, तुलसीराम बोपचे, लक्ष्मी प्रसाद राहंगडाले, योगराज भगत, शोभाराम राहंगडाले, भाऊ दास वासनिक, परमानंद डोंगरे, देवानंद चौहान सहित अन्य मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned