मकान में लगी आग, लाखों की हुई नुकसानी

किरनापुर थाना क्षेत्र के ग्राम धड़ी मंगोली निवासी नेवाजी शेण्डे के मकान में अचानक भीषण आगजनी से लाखों रुपए की नुकसानी हुई है।

By: mantosh singh

Updated: 07 Jun 2018, 12:34 PM IST

बालाघाट. किरनापुर थाना क्षेत्र के ग्राम धड़ी मंगोली निवासी नेवाजी शेण्डे के मकान में बीती रात अचानक भीषण आगजनी से लाखों रुपए की नुकसानी हुई है। इसकी सूूचना पुलिस कंट्रोल रूम में मिलते ही नगरपालिका को पुलिस द्वारा सूचना दी गई। जिससे नपा बालाघाट से दो फायरब्रिगेड व लांजी नगर पंचायत से एक फायरब्रिगेड ने मौके पर पहुंच ग्रामीणों के सहयोग से आग बुझाया। इस संबंध में मकान मालिक नेवाजी ने बताया कि मंगलवार की रात घर में खाना खाकर परिवार सहित सो रहे थे। अचानक मध्यरात्रि घर की सराव (डहेल) से आग की लपटे व धुआं निकलते दिखाई दिया। जिससे पड़ोसियों की सहायता से आग बुझाने का प्रयास किया। इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम में दी गई। इस आगजनी से करीब एक लाख से अधिक की नुकसानी हुई है। आग लगने का कारण अज्ञात है।
इनका रहा सहयोग
आग बुझाने में दमकल वाहन के चालक संदीप सोनेकर, योगेश दमाहे, फायरमेन जितेन्द्र कटरे, बाली सोनवाने, राहुल सोनी, प्रशांत मेश्राम, नितेश डोहरे, कमलेश माने सहित ग्रामीणजनों का सहयोग रहा।
जमीन का कब्जा छोडऩे दी जा रही धमकी
बालाघाट. ग्रामीण थाना क्षेत्र के ग्राम खुरसोड़ी निवासी इन्दु लिल्हारे ने प्रकाश सचदेव व दिलीप बाघरेचा के खिलाफ कार्रवाई किए जाने को लेकर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा। इस संबंध में इन्दु ने बताया कि खुरसोड़ी में एक विवादित भूमि के सौदे में जमीन मालिक व प्रकाश एवं दिलीप से मध्यस्ता कर समझौता कराया था। जिसके एवज में वर्ष २०११ में इन्दु को दोनों के द्वारा पेंडरई हट्टा में करीब १.२५ एकड़ भूमि दी गई थी। उक्त भूमि का कब्जा भी सौंप दिया था। लेकिन रजिस्ट्री के लिए राशि नहीं होने पर इन्दु ने उस समय रजिस्ट्री नहीं करा पाया। उक्त भूमि पर २०११ से बिना विवाद के इन्दु द्वारा कृषि कार्य किया जा रहा था। दिसम्बर २०१७ में इन्दु ने प्रकाश सचदेव से मिलकर रजिस्ट्री कराने कहा तो रजिस्ट्री करने से इंकार कर धमकी दी गई। उन्होंने बताया कि २८ जनवरी २०१८ को खुरसोड़ी में ही कुछ युवकों को हथियार लेकर भेज जमीन का कब्जा छोडऩे धमकी देकर मारपीट किया गया। इसकी शिकायत ग्रामीण थाना में दी गई। लेकिन थाना में इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। दोनों के द्वारा बार-बार जमीन का कब्जा छोडऩे डराया धमकाया जा रहा है।

mantosh singh Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned