जिले में फिर पाए गए पांच कोरोना पॉजिटिव मरीज

एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 53

By: Bhaneshwar sakure

Published: 23 Aug 2020, 09:06 PM IST

बालाघाट. जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ते ही जा रही है। जिले में फिर से पांच कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं। इस प्रकार जिले में अब 2३८ मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। इनमें से 53 मरीजों का उपचार किया जा रहा है और शासन के प्रोटोकॉल के अनुसार 1८१ मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। 3 मरीजों को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा रेफर किया गया है और एक मरीज की मृत्यु हो चुकी है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडे के साथ जानकारी के अनुसार 22 अगस्त को आईसीएमआर लैब जबलपुर से प्राप्त 536 रिपोर्ट में से 3 सैंपल की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। आईसीएमआर लैब जबलपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 3 मरीजों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस प्रकार बालाघाट जिले में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 55 हो गई है। 22 अगस्त को जिन मरीजों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव आए हैं, उनमें एक मरीज 42 वर्षीय महिला है जो बिरसा की निवासी है। दूसरा मरीज 60 वर्षीय पुरुष है जो बिरसा का निवासी है और तीसरा मरीज 33 वर्षीय पुरुष है जो लालबर्रा का निवासी है। इन तीनों मरीजों को उपचार के लिए आइटीआइ के पीछे बूढ़ी बालाघाट में बनाए गए कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। विदित हो कि तीन मरीज कोरोना पॉजिटिव आए हैं उनमें से 42 वर्षीय एक मरीज कर्नाटक से मलाजखंड आया था। दूसरा 60 वर्षीय मरीज नागपुर से बिरसा आया है और तीसरा 33 वर्षीय मरीज लालबर्रा तहसील के ग्राम बल्हारपुर का है और वह सर्दी, खांसी बुखार की समस्या होने पर लालबर्रा के फिवर क्लीनिक में जांच कराने आया था।
सीएचएमओ ने बताया कि जिला चिकित्सालय बालाघाट की ट्रू-नॉट लैब से प्राप्त रिपोर्ट में 2 मरीजों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें एक मरीज दीनदयाल पुरम बालाघाट की महिला है और दूसरा मरीज वार्ड नंबर 2 बालाघाट का पुरुष है। इन दोनों मरीजों को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा रेफर कर दिया गया है। डॉक्टर पांडेय ने बताया कि शासन के प्रोटोकॉल के अनुसार 4 मरीजों के ठीक हो जाने पर उन्हें आज डिस्चार्ज कर दिया गया है।
कोरोना पॉजिटिव उपयंत्री की नागपुर में मौत
वारासिवनी निवासी प्रभु कटारे उपयंत्री पीडब्लूडी को कोरोना पाजिटिव होने पर विगत तीन दिनों से नागपुर के मेडिकल में भर्ती किया गया था। जिनका निधन शनिवार की शाम करीब 6 बजे हो गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनोज पांडेय ने बताया कि उपयंत्री कटारे हार्ट और शुगर के मरीज थे। वे 29 जुलाई को नागपुर अपना उपचार कराने गए थे। 8 अगस्त को वे वारासिवनी आ गए थे। वारासिवनी में अपने घर पर दो दिन रहने के बाद वे 11 अगस्त को सिवनी गए थे और वहां से नागपुर गए थे। वे नागपुर में कोरोना संक्रमित हो गए थे। वारासिवनी में उनके परिजनों क्वॉरंटीन कर दिया गया है और कल उनके सैंपल कोरोना टेस्ट के लिए लिए जाएंगे।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned