कियोस्क संचालक से लूट के चार आरोपी गिरफ्तार लूट के 135000 रुपए जब्त

कियोस्क संचालक से लूट के चार आरोपी गिरफ्तार  लूट के 135000 रुपए जब्त

Mahesh Kumar Doune | Publish: Apr, 22 2019 06:57:25 PM (IST) | Updated: Apr, 22 2019 06:57:26 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

आईडीएफसी बैंक के कियोस्क संचालक से लूट करने वाले दो लुटेरे और दो योजना बनाने वालों को पुलिस ने पकड़ा है।

बालाघाट. आईडीएफसी बैंक के कियोस्क संचालक से लूट करने वाले दो लुटेरे और दो योजना बनाने वालों को पुलिस ने पकड़ा है। जिनमें बंजारीटोला निवासी राकेश पिता अर्जुनलाल पांचे (38), पौनी निवासी रूपेन्द्र पिता रायसिंह पन्द्रे (30), इंदरसिंह पिता मेहतरसिंह मरकाम (50), बंजारीटोला निवासी बस्ताराम पिता झनकलाल देशमुख (40) शामिल है। पकड़े गए आरोपियों के पास से 135000 रुपए बरामद किया गया। पुलिस ने आरोपियों को बैहर न्यायालय में पेश किया। जहां से तीन को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया व एक मुख्य आरोपी राकेश पांचे को पूछताछ के लिए पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया।
इस संबंध में मलाजखंड थाना प्रभारी रमजू उइके ने बताया कि 16 अप्रैल की सुबह 8.30 बजे ग्राम लोरा के जंगल में आईडीएफसी बैंक के कियोस्क संचालक बंजारीटोला निवासी कुलदीप पिता जागेश्वरप्रसाद पंचेश्वर (33) से 2,70000 रुपए की लूट की वारदात को अंजाम दिया था। जिसकी शिकायत कुलदीप ने थाना में दी थी। उन्होंने बताया कि कुलदीप रोज की तरह सुबह अपने गांव से ग्राम भंडेरी कियोस्क बैंक जाने के लिए बैग में २,७०००० रुपए लेकर निकला था। इस दौरान सुबह 8.30 बजे ग्राम लोरा के जंगल पहुंचा था। इस दौरान दो लोगों ने बाइक रोक रुपए से भरा बैग छीनकर भाग गए थे। जिसके बाद से लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में टीम गठित कर पतासाजी की जा रही थी। मुखबिर की सूचना पर अलग-अलग जगहों में दबिश देकर मुख्य आरोपी राकेश पांचे, रूपेन्द्र, इंदरसिंह व बस्ताराम को पकड़ा गया। जिनके कब्जे से 135000 रुपए बरामद किया गया। इसमें से चारों ने मिलकर अन्य 135000 रुपए खर्च कर लिए थे।
पड़ोसियों की मदद से चला पता
पुलिस ने बताया कि लूट करने की योजना राकेश पांचे ने तैयार की थी। 16 अप्रैल की सुबह कुलदीप भंडेरी की कियोस्क बैंक जाने के लिए घर से राशि लेकर निकला था। तभी योजनानुसार ग्राम लोरा के जंगल में रूपेन्द्र और इंदरसिंह ने रास्ते में लोरा के जंगल में रोक कुलदीप का बैग छीन भाग गए थे। लूट की वारदात के बाद चारों लोग राशि खर्च करने लगे थे। जिससे पड़ोसियों ने सोचा कि ये चारों कुछ कामकाज करते नहीं है और इनके पास इतना पैसा आया कहा से आया। जिसकी सूचना उनके द्वारा पुलिस को दी गई। पुलिस ने अलग-अलग स्थान से आरोपियों को पकड़ पूछताछ करने पर चारों ने लूट मामले को अंजाम देना स्वीकार किया। पुलिस ने चारों के खिलाफ धारा 392,120 बी आईपीसी के तहत मामला कायम किया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned