किसी भी अपराध की तत्काल दें सूचना

किसी भी अपराध की तत्काल दें सूचना
balaghat

Prashant Sahare | Updated: 22 Dec 2016, 11:16:00 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

छात्राओं को अपने साथ होने वाली घटनाओं व दुर्घटना का सामना करने व यातायात संबंधी भी जानकारी दी


बालाघाट. पत्रिका के निर्भीक बचपन अभियान के तहत गुरुवार को नगर के शासकीय नवीन कन्या हाईस्कूल बूढ़ी में आयोजन किया गया इसमें यातायात थाना उपनिरीक्षक नरेन्द्रसिंह परिहार, संस्था प्राचार्य एसके खांडेकर, डॉ. अंकित असाटी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। इस दौरान स्कूल के 11 वीं 12 वीं के करीब दो सौ छात्राओं हिस्सा लिया। कार्यक्रम में छात्राओं ने निर्भीक बचपन अभियान, बाल संरक्षण और बालिकाओं के आत्मरक्षा की जानकारी प्राप्त की। 
उपनिरीक्षक परिहार ने छात्राओं को अपने साथ होने वाली घटनाओं व दुर्घटना का सामना करने व यातायात संबंधी भी जानकारी दी। उन्होंने 18 वर्ष से कम के बच्चो के लिए बनाए गए भारतीय दंड संहिता की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि नाबालिग के लिए कानून में संशोधन कर अलग एक्ट बनाया गया है। दिल्ली में निर्भया कांड के बाद पूरे देश में लड़कियों की सुरक्षा के लिए निर्भया मोबाइल प्रारंभ की गई है। इसके अलावा 100 डायल की भी सुविधा है जिस पर नि:शुल्क कॉल की सुविधा है। इस नंबर पर कॉल करने से तत्काल पुलिस मौके पर आपकी सहायता के लिए पहुंच जाएगी। 
इस अवसर पर संस्था के प्राचार्य खांडेकर ने पत्रिका के पहल की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन से छात्राओं व बच्चों को अपराधों का सामना करने में संबल मिलता है। उन्होंने भी बच्चों को अपने साथ गलत हो रहे व्यवहार का डटकर सामना करने प्रेरित किया। 

समूह में छात्राओं ने पूछा सवाल
कार्यक्रम के समापन के दौरान छात्राओं ने उपनिरीक्षक नरेन्द्र परिहार से अनेक सवाल किए। इस दौरान छात्राओं ने पूर्व में हुई घटनाओं, उस प्रकरण में की गई कार्रवाई, कार्रवाई नहीं होने पर किन्हें शिकायत करना है सहित अन्य जानकारियां पूछी। हालांकि, पहले छात्राएं सवाल करने में हिचकिचाई। लेकिन बाद में उन्होंने बेबाक तरीके से सवाल कर उसके जवाब मांगे।

छात्राओं ने पूछे सवाल

सवाल. कक्षा 11 वीं की छात्रा किरण ने पूछा कि रास्ते में किसी मनचले के द्वारा छींटाकशी करने पर क्या करना चाहिए। 
जवाब. किसी भी लोगों के द्वारा परेशान करने पर अपने माता-पिता को जानकारी दे उनके द्वारा नहीं मानने पर तत्काल पुलिस को सूचना देंवे। पुलिस द्वारा कभी भी शिकायतकर्ता का नाम उजागर नहीं करेगी। 

सवाल. कक्षा 11 वीं की छात्रा सविता नगपुरे ने पूछा कि स्कूल व कोंचिग से आते समय कोई आपराधिक घटना होने पर क्या करना चाहिए। 
जवाब. सबसे पहले सूचना अपने परिजनों के माध्यम से स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं व पुलिस को घटना की जानकारी देना चाहिए। जिससे उस आपराधिक घटना पर कार्रवाई कर अंकुश लगाया जा सकें। 

सवाल. कक्षा 12 वीं की छात्रा रक्षा श्रीवास ने पूछा कि मोहल्ले पड़ोस में शराब पीकर व्यक्ति द्वारा अपनी पत्नी व बच्चों को मारपीट करने पर क्या किया जाए। 
जवाब. विवाद होते देख शीघ्र 100 डायल को सूचना देंवे। किसी भी अपराध को छुपाने का प्रयास न करें इससे अपराधी की हौंसले बुलंद होते है। 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned