गोंदिया पुलिस ने पकड़ा जिले के कस्टम मिलिंग का धान

धान से भरे ट्रक को किरनापुर थाने में करवाया खड़ा

By: Bhaneshwar sakure

Updated: 31 Jul 2020, 09:01 PM IST

बालाघाट.शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदे गए धान को मिलिंग कराने के लिए मिलर्स को प्रदान किया जाता है। किंतु कुछ मिलर्स द्वारा अच्छी किस्म की धान को पड़ोसी राज्य के गोंदिया जिले में ऊंचे दामों में बेच कर मुनाफा कमाया जा रहा है और उसके एवज में अमानक स्तर का चावल खरीद कर शासन को प्रदान किया जाता है। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार को सामने आया। जिसमें मां एग्रो इण्ड्रस्टी राईस मिलर्स को सप्लाई किया हुआ धान से भरा ट्रक गोंदिया पहुंच गया। जहां रामनगर थाने की पुलिस द्वारा ट्रक को रोककर पूछताछ कर दस्तावेजों की जांच की गई तो यह धान मध्यप्रदेश राज्य के बालाघाट जिले का होना पाया गया। जिस पर गोंदिया पुलिस द्वारा बालाघाट पुलिस अधीक्षक से बातचीत करते हुए उक्त धान से लदे ट्रक को किरनापुर पुलिस थाने के प्रांगण में सुपूर्दनामे मेें खड़ा करवाकर जांच प्रारंभ कर दी है।
जानकारी के अनुसार 30 जुलाई को जिले के ग्राम रजेगांव डिपो से ट्रक क्रमांक सीजी 04 एमके 3025 में धान के 750 बोरे भरकर मां एग्रो इण्ड्रस्टीज को भिजवाया गया था। लेकिन यह ट्रक दस्तावेजों के साथ महाराष्ट्र राज्य के गोंदिया पहुंच गया। जहां रामनगर थाना गोंदिया पुलिस द्वारा उक्त ट्रक को जब्त किया गया है। इसके बाद पूरा मामला सामने आ गया। बताया गया है कि प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से मां एग्रो इण्ड्रस्टीज को अन्य मिलर्स की अपेक्षा अधिक संख्या में आरओ काटकर रजेगांव डिपो से धान की सप्लाई की जाती है। शुक्रवार को गोंदिया पुलिस द्वारा जब्त किया गया धान से भरा ट्रक इसका उदाहरण है।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned