scriptGovernment removed restrictions, now there will be uplift in business | शासन ने हटाई पाबंदियां, अब व्यवसाय में आएगा उठाव | Patrika News

शासन ने हटाई पाबंदियां, अब व्यवसाय में आएगा उठाव

पत्रिका से चर्चा में प्रिटिंग प्रेस और टैंट व्यवसायियों ने दी जानकारी
अब वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल हो सकेंगे सभी मेहमान
व्यवसायियों के चहरों में दिख रही रौनक

बालाघाट

Published: February 13, 2022 10:29:36 am

बालाघाट. मध्यप्रदेश शासन ने कोरोना काल के दौरान लगाई गई सभी पाबंदियां शनिवार से हटा दी है। अब स्कूल, कॉलेजों का पूरी क्षमता के साथ संचालन किया जाएगा। वहीं वैवाहिक कार्यक्रमों में भी सभी मेहमान शामिल हो सकेंगे। शासन के इस नए आदेश के बाद वैवाहिक कार्यक्रमों से जुड़ा व्यवसाय करने वाले व्यवसायियों में चमर नजर आ रही हैं। जिनका कहना है कि अब आगामी दिनोंं में उन्हें अधिक कार्डो की छपाई के आर्डर मिलने के साथ ही डेकोरेशन के कार्य में भी उठाव आएगा।
व्यवसायियों ने बताया कि पिछले दो वर्षो से शादियों के सीजन में कोरोना संक्रमण के मरीज तेजी से बढ़ते हैं और शासन को लॉक डाउन या अन्य पाबंदियां लगा दी जाती है। इससे नौकरी पेशा वालों को तो फर्क नहीं पड़ता है। लेकिन वैवाहिक कार्यक्रमों से जुड़े व्यवसायियों का मरना हो जाता है। व्यवयास ठप हो जाता और उनके यहां करने वाले मजदूरों की मजदूरी निकालना भी मुश्किल हो सकता है। व्यवसायियों के अनुया जो छूट अभी प्रदान की जा रही है, यदि वे एक माह पूर्व दे दी गई होती और टेंट और प्रिंटिंग प्रेस व्यवसायियों को नुकसान का सामना नहीं करना पड़ता। आगामी मार्च से मई माह के बीच अधिक शादियां होनी है। ऐसे में सभी ने पूर्व से ही कार्डो के आर्डर देकर छपवा लिए हैं। पूर्व में कम संख्या में मेहमानों को पहुंचने के निर्देश थे। इस कारण १०० से २०० कार्ड के ही आर्डर मिल पाए हैं। अब छूट मिलने से धंधे उठाव आने की उम्मींद जताई जा रही है।
इनका कहना है।
हमारा शादियों में ही कमाई का मेन सीजन रहता है। लेकिल पिछले दो वर्षो से शादियों के सीजन में ही पाबंदियां लगा दी जाती है। काफी नुकसान वहन करना पड़ता है। अब पाबंदियां हटाई गई है तो अधिक काम मिलने की उम्मींदे हैं।
दीपक कुमार वाधवानी, व्यवसायी
शासन ने हटाई पाबंदियां, अब व्यवसाय में आएगा उठाव
शासन ने हटाई पाबंदियां, अब व्यवसाय में आएगा उठाव
जो छूट अभी दी जा रही है यदि इसे एक माह पूर्व दी गई होती इस सीजन की नुकसानी वहन नहीं करनी पड़ती है। अब लोगों ने पहले से कम संख्या में कार्ड छपवाई और टैंक सामग्रियां का आर्डर दे दिया है। फिलहाल धंधा मंदा चल रहा है।
मेहतलाल लिल्हारे, प्रिटिंग प्रेस व्यवसायी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेताPunjab Budget 2022: 1 जुलाई से फ्री बिजली; यहां पढ़ें पंजाब सरकार के पहले बजट में क्या-क्या है खासमुकुल रॉय ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के पब्लिक अकाउंट्स कमेटी के चैयरमैन पद से दिया इस्तीफा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.