शिक्षा और वन विभाग के बीच जमीनी विवाद

शिक्षा और वन विभाग के बीच जमीनी विवाद
शिक्षा और वन विभाग के बीच जमीनी विवाद

Mukesh Yadav | Updated: 23 Sep 2019, 06:32:01 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

राजस्व की एक ही जमीन दो विभागों में आंवटित-

कटंगी। तहसील क्षेत्र के ग्राम खैरलांजी में स्थित राजस्व की पहन. 08 की खसरा क्रमांक 353 रकबा 0.404 भूमि के लिए दो विभागों के बीच विवाद की स्थिति निर्मित हो सकती है। हालाकिं अभी यह मामला अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के पास जांच के लिए लंबित है। मगर, जांच के पूर्व जमीनी हक के लिए इन दोनों ही विभागों के कर्मचारियों में कहासुनी हो रही है। इन दो विभागों में शासकीय माध्यमिक शाला खैरलांजी यानि शिक्षा और वन विभाग शामिल है।
दरअसल, यह दोनों ही विभाग इस भूमि पर अपना-अपना दावा बता रहे हैं। सबसे चौकानें वाली बात तो यह है कि इन दोनों ही विभागों के पास बकायदा राजस्व से इस एक ही भूमि आवंटित होने के खसरे नक्शे भी मौजूद है। वन विभाग ने गत दिनों जमीन पर पौधारोपण कर दिया है। जिसकी शिकायत शाला के प्रधान पाठक एवं शाला प्रबंधन समिति ने अनुविभागीय अधिकारी से करते हुए जांच कराने की मांग की है। इस शिकायत के बाद पटवारी ने मौके पर स्थल निरीक्षण कर लिया है, लेकिन दोनों ही विभागों के पास मौजूद दस्तावेज देखकर मामले का निपटारा नहीं हो पाया है।
यह है पूरा मामला-
मिली जानकारी अनुसार तहसील में मौजूद राजस्व रिकार्ड के मुताबिक उक्त भूमि शासकीय स्कूल के लिए सुरक्षित है। जबकि वन विभाग के रिकार्ड में यह भूमि वन विभाग को आवंटित हुई है। बताया जा रहा है कि साल 1983 से 88 के बीच राजस्व विभाग ने उक्त भूमि वन विभाग को आंवटित की थी, लेकिन इतने सालों में बंदोबस्त शाखा में दुरस्तीकरण नहीं किया गया। आज यह भूमि दोनों ही विभागों के बीच विवाद का कारण बनते जा रही है। जिसका निराकरण कलेक्टर, वनमंडलाधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी के बिना हस्तक्षेप के होना मुश्किल लग रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned