भूखमरी से जूझ रहे बैगा आदिवासी परिवार के लिए उठने लगे मदद के हाथ

Bhaneshwar Sakure

Publish: Sep, 15 2019 07:29:08 PM (IST)

Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट/परसवाड़ा. मूलभूत सुविधाओं से वंचित और भूख रहकर अपने दो बेटियों के साथ दिन गुजार रही बैगा आदिवासी महिला की सहायता के लिए अब लोग सामने आने लगे है। पत्रिका में खबर प्रकाशन के बाद स्थानीय विधायक रामकिशोर कावरे ने एक लाख रुपए देने की घोषणा की है। जबकि परसवाड़ा के समाजसेवियों ने उन्हें करीब एक माह का राशन प्रदान किया। टूटी-फूटी झोपड़ी को व्यवस्थित करने पॉलीथिन भी प्रदान की। ताकि महिला और उसकी दोनों बेटियां अच्छे से जीवन गुजार सकें। वहीं प्रशासनिक अधिकारियों ने उचित सहयोग प्रदान किए जाने का आश्वासन दिया है।
जानकारी के अुनसार जनपद पंचायत परसवाड़ा अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत फतेपुर के वनग्राम कुकड़ा निवासी बैगा समुदाय की महिला नानीबाई और उसकी दो बेटियां चिंकी, पिंकी पिछले तीन दिनों से अन्न के दाने को मोहताज थी। जंगल के कंद मूल खाकर जीवन गुजार रही थी। टूटी-फूटी झोपड़ी में निवास कर रही थी। पत्रिका द्वारा इस खबर को प्रकाशित किए जाने के बाद परसवाड़ा विधायक रामकिशोर कावरे ने तत्काल परिवार के लिए रसद सामग्री और कपड़ों की व्यवस्था की। वहीं उन्होंने इस परिवार के रहने की व्यवस्था के लिए एक लाख रुपए देने की घोषणा की। ताकि उनके रहने के लिए एक मकान बनाया जा सकें। विधायक कावरे ने कहा कि मीडिया के माध्यम से जैसे ही उन्हें जानकारी मिली वैसे ही उन्होंने तत्काल परिवार के लिए खाने पीने के साथ कपड़ों की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि एक लाख रुपए की राशि देकर इस परिवार के रहने के लिए आवास की व्यवस्था की जाएगी। ताकि इस परिवार को टूटी फूटी झोपड़ी में टपकती छत से राहत मिले सकें। बारिश समाप्त होने के बाद उन्हें राशि प्रदान कर उसी राशि से उनका मकान बनाया जाएगा।
वहीं खबर प्रकाशन के बाद परसवाड़ा निवासी युवा समाजसेवी द्वारका वंशपाल भी अपने साथियों के साथ ग्राम कुकड़ा पंहुचे। जहां पर उन्होंने पीडि़त परिवार से मिल कर उनका हालचाल जाना। साथ ही अपनी ओर से 25 किलो चावल, दाल, किराना सामान, सहित झोपड़ी को ढांकने के लिए पॉलीथिन प्रदान की। इतना ही नहीं उन्होंने झोपड़ी को पॉलीथिन से ढककर उसे व्यवस्थित भी किया।
इधर, भूखमरी और तंगहाली से जीवन गुजार रही मां-बेटियों की आंखों में उस खुशी की चमक दिखाई दी, जब लोग उनकी मदद के लिए उनके पास पहुंचे। पीडि़त परिवार में एक दिन पहले की मायूसी अब खुशी में तब्दील हो गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned