पुलिसकर्मियों और मीडियाकर्मियों की हुई स्वास्थ्य जांच

पुलिस अधिकारी, कर्मचारी एवं मीडियाकर्मियों का स्वास्थ्य विभाग द्वारा नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच किया गया।

By: mahesh doune

Published: 10 May 2020, 07:22 PM IST

बालाघाट. कोरोना संक्रमण के दौरान तत्परता से अपनी सेवाएं दे रहे पुलिस अधिकारी, कर्मचारी एवं मीडियाकर्मियों का स्वास्थ्य विभाग द्वारा नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच किया गया। कार्यक्रम का आयोजन पुलिस कंट्रोल रूम में किया गया। जहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पुलिस जवान व मीडियाकर्मियों ने स्वास्थ्य की जांच कराई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा नि:शुल्क दवा का वितरण भी किया गया। इस स्वास्थ्य शिविर में जिला अस्पताल व आयुष विभाग की टीम द्वारा पुलिस कर्मियों व पत्रकारों की स्क्रीनिंग, आंख व शारीरिक जांच कर आवश्यकतानुसार दवाओं का वितरण किया गया।
गौरतलब हो कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने केन्द्र सरकार द्वारा पूरे देश में लाकडाउन किया गया। जिसमें आम नागरिकों को घरों में रहने की अपील के साथ, आमनागरिकों की सेवाओं के लिये पुलिस विभाग का अमला दिन रात तत्परता से सड़क पर खड़े होकर अपनी सेवा दे रहा है। इसी तरह समाज में आम नागरिकों तक शासन-प्रशासन की जानकारी पहुंचाने में पत्रकारों का भी अहम रोल माना जा रहा है। ऐसे समय समाज का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकारों और कोरोना वारियर्स पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य के प्रति प्रशासन भी चितिंत है। जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग की मदद से पुलिस और पत्रकारों के लिए स्वास्थ्य जांच का आयोजन किया गया।
इस दौरान अजाक थाना एसपी रश्मि डाबर ने बताया कि वर्तमान समय में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लगातार पुलिसकर्मी अपनी सेवायें दे रहे है। साथ ही मीडिया कर्मी भी इस समय में धूप में निकलकर अपना कार्य कर रहे है। निश्चित तौर पर ऐसे समय हर किसी को कोई न कोई शारीरिक समस्या होती है। इस बात को दृष्टिगत रखते हुए स्वास्थ्य विभाग की मदद से स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर प्रमुख रूप से सीएसपी सुमित केरकेट्टा, कोतवाली थाना प्रभारी विजयसिंह परस्ते, यातायात प्रभारी मनोज मेहरा सहित पुलिसकर्मी व मीडियाकर्मी शामिल रहे।

mahesh doune Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned